वित्तीय गड़बड़ियों के चलते 165 ग्राम प्रधान चुनाव की दौड़ से बाहर, ऑडिट में नहीं दे सके खर्च का हिसाब…..

पूर्वांचल पोस्ट न्यूज नेटवर्क

बरेली। गांव के चुनाव को लेकर तैयार हो रहे माहौल में करीब 165 ग्राम प्रधान दौड़ से ही बाहर हो रहे है। बकौल डीपीआरओ जिन प्रधानों पर मनरेगा प्रकरण की जांच, रिकवरी और ऑडिट जांच बैठने के बाद करोड़ों की गड़बड़ी मिली। उन्हें ग्राम प्रधानी के चुनावों में मौका नहीं मिलेगा।

पंचायत चुनाव से ठीक पहले ग्राम पंचायतों में घोटालों की फेहरिस्त लंबी हो गई। सात ग्राम पंचायतों में एक साल में प्रधान और सचिव ऑडिट अधिकारियों को करीब 1.72 करोड़ की रकम का हिसाब नहीं दे सके थे। जबकि ग्राम निधि के खाते से रकम निकाल ली। ऑडिट के दौरान खर्च के दस्तावेज भी प्रधान और सचिव नहीं दिखा सके। जिला लेखा परीक्षा अधिकारी ने रामनगर ब्लॉक की रामनगर और आलमपुर कोट, मीरगंज के सिधौली, सैजना ओर सिल्लापुर, भुता के दलपतपुर और बाकरगंज ग्राम पंचायत का वित्तीय वर्ष 2017.18 का ऑडिट किया था। ऑडिट टीम ने ग्राम निधि से निकाली गई रकम के खर्च का मिलान किया। सातों ग्राम पंचायत में बड़ी गड़बड़ी सामने आई। ग्राम निधि के खाते से सातों ग्राम पंचायत में करीब 1.72 करोड़ की ऐसी रकम निकाली गई जिसका खर्च का कहीं कोई लेखजोखा नहीं मिला। इसके अतिरिक्त नवाबगंज, आंवला, हाफिजगंज, भमोरा, दलेलनगर, आलमपुर जाफराबाद ब्लॉक में भी गड़बड़ियां मिली थी। जिसके बाद ग्राम प्रधानों के नो ड्यूज जारी करने पर रोक लगा दी गई है।

पंचायत चुनाव पर रंजनीकांत देंगे मंत्र

बरेलीः पंचायत चुनाव में भारतीय जनता पार्टी पूरी ताकत झोंक रही है। ब्रज क्षेत्र के क्षेत्रीय अध्यक्ष रजनीकांत माहेश्वरी पार्टी पदाधिकारियों के साथ सिविल लाइंस भाजपा कार्यालय में बैठक करेंगे। प्रवास के दौरान वह भाजपा के समर्पित कार्यकर्ताओं को पूरी ताकत से चुनाव में उतरने का मंत्र देंगे। भाजपा गांव के चुनाव में भी भगवा फहराना चाहती है। इससे पहले शिक्षक विधायक चुनाव में पहली बार भाजपा का उम्दा प्रदर्शन सामने आया था।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!