चकियाः सिकंदरपुर दर्शन का हुआ विमोचन, अर्थ व्यवस्था के मजबूत रीङ होते हैं व्यापारी वर्ग-प्रदेश अध्यक्ष अशोक

पूर्वांचल पोस्ट न्यूज नेटवर्क

कोरोना संकट में व्यापारी वर्ग ने किया उत्कृष्ठ कार्य

कोरोना संकट के दौरान व्यापारी थे कोरोना योद्धा-तहसीलदार

युवाओं ने पुलवामा में हुए शहीदों को दी श्रद्धांजलि

चकिया, चंदौली। स्थानीय विकास खंड के सिकंदरपुर गांव स्थित एक मैरेज लान में सिकंदरपुर उद्योग व्यापार मंडल द्वारा चंद्रप्रवाह, दर्शन स्मारिका का विमोचन व सम्मान समारोह का कार्यक्रम आयोजित किया गया। जिसमें सर्व प्रथम पुलवामा में शहीद हुए जवानों को श्रद्धांजलि देते हुए कैन्डिल मार्च निकाला गया। साथ ही नम आखों से ईश्वर से प्रार्थना किया गया। तदउपरांत अतिथियों द्वारा स्मारिका का विमोचन किया गया। वहीं समाजसेवियों व व्यापारियों के साथ-साथ  अन्य विशिष्ठजनों के परिजनों को स्मृति चिन्ह व अंग वस्त्र प्रदान किया गया।

स्मारिका विमोचन का शुभारंभ राष्ट्रगान के साथ हुआ। जिसके बाद व्यापारियों को संबोधित करते हुए केशरवानी समाज के प्रदेश अध्यक्ष अशोक ने कहा कि एक जुटता से ही लक्ष्य की प्राप्त होती है। कभी भी विखरकर हम विकास नहीं कर सकते हैं। अर्थ व्यवस्था में हम व्यापारी वर्ग अपनी महति भूमिका निभाते हैं। इसी से हम अर्थ व्यवस्था के मजबूत रीङ भी कहलाते हैं। व्यापारी हित के लिए हमेशा अपनी आवाजों को बुलंद करना चाहिए। इस कोरोना संकट के दौरान हमारे वर्ग ने एक अच्छा समाज में उदाहरण पेश किया है। कोई भूखा न रहे इसके लिए डोर-टू-डोर जाकर राशन सामग्री वितरित करने का काम किया।

वहीं तहसीलदार फूलचंद्र यादव ने कहा कि हम एक ऐसे संकट के बीच खड़े थे जिसकी कभी भी हम कल्पना नहीं कर सकते थे। लेकिन इस संकट में हमने अन्य देशों को बता दिया कि एक जुटता में बहुत ही शक्ति है। हम दुखः व सुख में मजबूती से खड़े रहते हैं। कोरोना संकट में कोरोना योद्धा के तरह व्यापारी वर्ग ने कार्य किया। जो काफी सराहनीय था। प्रशासन के साथ व्यापारियों ने भी बिना डरे संकट में अपनी दुकानों को खोलकर लोगों को सामन देने का कार्य किया।

इसके साथ ही मुगलसराय विधान सभा के विधायक साधना सिंह के प्रतिनिधि राघवेन्द्र सिंह ने कहा कि 11 महिने बाद हम ऐसे कार्यक्रम में भाग ले रहे हैं। जो संकट के दौरान अपनी जिंदगी का परवाह न करते हुए कंधे से कंधा मिलाकर कार्य किए। हम लोगों ने व्यापारियों से सूखा सामग्री इकठ्ठा करके गरीब जनमानस तक राशन का पैकेट पहुंचवाने का कार्य किया। हमारी सरकार इस संकट में मजबूती के साथ खड़ा होकर हर संभव ममद करने का कदम उठाई।

कार्यक्रम के दौरान स्मृति शेष चकिया चेयरमैन अशेाक कुमार बागी की पत्नी पूर्व चेयरमैन मीरा जायसवाल, गांव के ही स्मृति शेष प्रमोद जायसवाल, स्वर्गीय जोखन चैरसिया व शंकर गुप्ता के परिजन को अंगवस्त्र व सम्मान पत्र प्रदान किया गया। वहीं 2003 से लगातार गांव में स्वच्छता अभियान के तहत विशेष योगदान देने के लिए युवा समाजसेवी सत्य प्रकाश गुप्ता को स्वच्छता ग्राही से सम्मानित करते हुए अंगवस्त्र व सम्मान पत्र प्रदान किया गया। वहीं युवा शक्ति सेवा समिति के अध्यक्ष प्रीयम गुप्ता के नेतृत्व में चंद्रप्रभा चैमुहानी से पुलवामा में हुए शहीद जवानों को याद करते हुए कैन्डिल मार्च निकाला गया। कैन्डिल मार्च के दौरान मुख्य आकर्षण का केंद्र कैमूर कोकिला अनुराधा रस्तोगी व सुरेन्द्र रस्तोगी ने महात्मा गांधी व कस्तूरबा गांधी बनी हुई थी।

इस दौरान आयोजक शीतला केशरी, भाजपा जिलाउपाध्यक्ष डा. प्रदीप मौर्या, डा. गीता शुक्ला, कोतवाल रहमतुल्लाह खां, स्वामी बालक दास, गुरुचरन दास, मुस्ताक अहमद, चकिया व्यापार मंडल संरक्षक समिति के अध्यक्ष अनुराग जायसवाल, विनोद गुप्ता, विमलेश विश्वकर्मा, राजू गुप्ता, विजय चैरसिया, कुश मौर्या, बचाउ लाल श्रीवास्तव, अमित रस्तोगी, श्याम रस्तोगी, दीपक रस्तोगी, संजय जायसवाल, आदित्य गुप्ता, राजकुमार जायसवाल, सुनिल गुप्ता, सचिन जायसवाल, जितेन्द्र सिंह सहित सैकड़ों व्यापारी व समाजसेवी मौजूद रहें। संचालन राजू विश्वकर्मा कवि ने किया।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *