पाकिस्तान को गोपनीय जानकारी देने के आरोपित सेना के जवान के खिलाफ जांच के आदेश…..

पूर्वांचल पोस्ट न्यूज नेटवर्क

जम्मू। पड़ोसी देश पाकिस्तान को सैन्य गतिविधियों की गोपनीय जानकारी देने के आरोपित जवान के खिलाफ सेना ने जांच के आदेश जारी किए हैं। सेना की उत्तरी कमान में तैनात जवान पंजाब का रहने वाला है और सेना ने उसे पाकिस्तान को गोपनीय जानकारी पहुंचाते हुए रंगे हाथ पकड़ा था।

सैन्य सूत्रों के हवाले से मिली जानकारी के अनुसार आरोपित जवान ने उस समय सेना की जानकारियां पाकिस्तान को भेजी जब भारतीय सेना का चीनी सेना के साथ विवाद चल रहा था। पिछले वर्ष अप्रैल.मई महीने में पंगोग झील से चीनी सैनिकों ने घुसपैठ की थी और उस समय पूरा देश ही चीन के खिलाफ खड़ा हो गया था।

लद्दाख के साथ लगती चीन और पाकिस्तान के साथ सीमा पर सुरक्षा की जिम्मेदारी सेना की ऊधमपुर स्थित उत्तरी कमान के हवाले है और पकड़ा गया जवान इसी कमान में नियुक्त था। जवान के पकड़े जाने के बाद सेना ने कोर्ट आफ इंक्वायरी के आदेश जारी कर दिए हैं और जांच में यह पता लगाने का प्रयास किया जाएगा कि पाकिस्तान को भेजी गई जानकारियां कैसी थीं और वह सुरक्षा को लेकर कितनी गंभीर थीं।

डा. एएस भाटिया बायोकैमिस्ट्री विभाग के एचओडी हैं जबकि डाण् हरलीन कौर माइक्रोबायालाेजी विभाग में एसोसिएट प्रोफेसर हैं।
जम्मू कश्मीर में कोरोना संक्रमण से लड़ने में अहम भूमिका निभा रहे भाटिया दंपत्तिए महीनों छुट्टी नहीं लेकर दिन.रात की सेवा

फिलहाल आरोपित जवान से सेना के अधिकारी पूछताछ कर रहे हैं। उसे पता लगाया जा रहा है कि वह किन के साथ संपर्क में था और कब से सेना की गोपनीय जानकारी वह दुश्मन देश को मुहैया करवाता आ रहा है। सेना इसे सुरक्षा में बड़ी सेंध मान रही है।

उत्तरी कमान सेना की प्रमुख कमान से एक है जो पाकिस्तान व चीन के साथ लगती सीमाओं की रक्षा का जिम्मा संभाले हुए हैं। इन्हीं इलाकों से पाकिस्तान अकसर भारत को नुकसान पहुंचाने का प्रयास करता है जिसे अब तक सेना नाकाम करती आई है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!