इतने लाख में सेना में भर्ती का झांसा, रिटायर्ड फौजी सहित दो गिरफ्तार…..

पूर्वांचल पोस्ट न्यूज नेटवर्क

उदयपुर। स्थानीय खेल गांव में चल रही सेना भर्ती में फर्जी अंकतालिका के जरिए सेना भर्ती में शामिल होने आए उन्नीस युवाओं के दूसरे दिन आर्मी इंटेलीजेंस और जिला पुलिस की स्पेशल टीम ने चार लाख रुपये में सेना भर्ती का झांसा देने वाले एक पूर्व सैनिक और उसके साथी को गिरफ्तार किया है। सुखेर थाने में उनके खिलाफ मामला दर्ज कराया गया है। बताया गया कि आर्मी इंटेलीजेंस को सेना भर्ती में ठगी को लेकर शिकायत मिली थी। जिस पर जिला स्पेशल पुलिस टीम के साथ उन्होंने बुधवार देर रात सुखेर थाना क्षेत्र की होटल झनकार में दबिश दी थी। जहां से आर्मी से रिटायर्ड कोटपुतली निवासी कमलेश गुर्जर तथा उसके सहयोगी नागौर निवासी नरेंद्र जाट को हिरासत में लेकर जांच शुरू की गई।

प्रारंभिक पूछताछ में उन्होंने स्वीकार किया कि उन्होंने सेना भर्ती में शामिल होने आए अभ्यर्थियों को भर्ती कराने का झांसा देकर चार लाख रुपये लिए हैं। अब तक वह अठारह अभ्यर्थियों से भर्ती का झांसा देकर पैसा ले चुके हैं। उनसे कई अभ्यर्थियों के दस्तावेज भी मिले हैं। जिनकी जांच जारी है। सुखेर थानाधिकारी मुकेश सोनी का कहना है कि सेना भर्ती का झांसा देकर ठगी के मामले में अन्य लोग भी शामिल हो सकते हैं। जिनको लेकर गिरफ्तार आरोपितों से पूछताछ जारी है।

एक दिन पहले पकड़े गए थे उन्नीस अभ्यर्थी

उदयपुर में चल रही सेना भर्ती के दौरान आर्मी इंटेलीजेंस ने उन्नीस ऐसे अभ्यर्थियों को पकड़ा था। जिन्होंने अपनी उम्र कम करने के लिए दसवीं की अंकतालिकाओं में हेरफेर कर उम्र घटा दी थी। इस तरह के हेरफेर की सूचना को आर्मी इंटेलीजेंस ने गंभीरता से लिया और नागौर जिल के उन्नीस अभ्यर्थियों को पकड़ लिया। इस मामले में लचीला रुख अपनाते हुए उनके खिलाफ आपराधिक मामला दर्ज नहीं कराया लेकिन आर्मी रिक्रूमेंट ऑफिसर ने सभी उन्नीस फर्जी अभ्यर्थियों के खिलाफ रिजेक्शन लैटर जारी कर उन्हें बाहर का रास्ता दिखा दिया था। उल्लेखनीय है कि उदयपुर में 28 फरवरी तक सेना भर्ती रैली चलेगी। जिसमें ग्यारह जिलों के तीन हजार से अधिक युवा रोजाना भर्ती के लिए आ रहे हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *