थानेदार और दारोगा को निलंबित किया जाएगा, इस भरोसे पर शांत हुए, यहां पर घरवाले और उठाया सड़क से….

पूर्वांचल पोस्ट न्यूज नेटवर्क

प्रयागराज। मानधाता थाने के हल्का दारोगा और थानेदार के खिलाफ जांच कराकर कार्रवाई करने का एसपी से आश्वासन मिलने पर सोमवार की रात एक बजे लकी प्रजापति के परिवार के लोग शांत हुए और शव लेकर घर चले गए। इसके बाद मंगलवार को शव का अंतिम संस्कार कर दिया।

गायब होने के बाद मिला था लड़के का शव

मानधाता थाना क्षेत्र के सरायसुजान गांव निवासी सुरेश प्रजापति के इकलौता बेटे लकी प्रजापति 19 पखवारे भर पूर्व घर से गायब हो गया था। उसकी गोली मारकर हत्या कर दी गई थी। पोस्टमार्टम के बाद सोमवार शाम करीब साढ़े सात बजे शव लेकर स्वजन मानधाता थाने पहुंचे और शव सड़क पर रखकर थाने का घेराव कर दिया। मौके पर पहुंचे एएसपी पूर्वीए सीओ और एसडीएम ने समझाने का प्रयास किया लेकिन आक्रोशित लोग नहीं माने।

एसपी भी आधी रात पहुंचे और मनाया घरवालों को

रात करीब साढ़े 12 बजे एसपी शिवहरी मीणा मौके पर पहुंचे और परिवार के लोगों को पुलिसकर्मियों के खिलाफ कार्रवाई करने, एक शस्त्र लाइसेंस जारी करने और हत्यारोपितों की गिरफ्तारी जल्द से जल्द कराने का आश्वासन दिया। इसके बाद परिवार के लोग शांत हुए लकी का शव उठाकर घर ले गए। इसके बाद पुलिस अधीक्षक फोरेंसिक टीम के साथ उस स्थान पर गए, जहां से शव बरामद किया गया था। फिर मृतक के घर जाकर स्वजनों को ढांढस बंधाया और आश्वासन दिया कि एक सप्ताह में घटना का पर्दाफाश कर दिया जाएगा।

अंत्येष्टि से पहले फिर भड़के लोग

इस बीच स्वजन मंगलवार को सुबह दस बजे शव का अंतिम संस्कार करने की तैयारी कर रहे थे। तभी किसी ने तूल दे दिया कि दारोगा और थानेदार को अभी तक निलंबित नहीं किया गया है। इतने में बात फिर बिगड़ गई। सीओ रानीगंज ने आश्वासन दिया कि दारोगा व एसओ की जांच एएसपी पूर्वी को सौंपी गई है। जांच के बाद कार्रवाई की जाएगी। तब किसी तरह स्वजन माने और दोपहर करीब ढाई बजे शव का अंतिम संस्कार कर दिया।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *