त्योहार बीते, फिर भी चल रहीं पूजा स्पेशल ट्रेनें. लग रहा डेढ़ गुना…….

पूर्वांचल पोस्ट न्यूज नेटवर्क

गोरखपुर। दशहरा, दीपावली और छठ पर्व बीत गया। होली अभी दो माह बाद है। लेकिन त्योहारों में अतिरिक्त सुविधा देने के नाम पर रेलवे की त्योहारी ;अतिरिक्त किराया की वसूली बंद नहीं हुई है। पूजा स्पेशल के यात्रियों को सामान्य स्पेशल से सवा से डेढ़ गुना तक अधिक किराया देना पड़ रहा है।

तत्काल टिकटों की सुविधा भी बंद

रेलवे का यह किराया उन श्रमिकों के लिए भारी पड़ रहा है जो लाकडाउन में कंपनी बंद होने के बाद घर वापस आ गए थे। अब धीरे.धीरे स्थिति सामान्य होने पर गोरखपुर से मुंबई, दिल्ली और सिकंदराबाद लौट रहे हैं। जानकारों के अनुसार सामान्य स्पेशल एक्सप्रेस ट्रेनों में तो सामान्य किराया ही लग रहा है। लेकिन पूजा स्पेशल ट्रेनों में रेलवे बोर्ड ने अतिरिक्त किराया वसूलने के साथ तत्काल टिकटों की सुविधा भी बंद कर दी है। मुंबई, दिल्ली, सिकंदराबाद, हटिया और हावड़ा ही नहीं कोलकाता जाने वाली सभी ट्रेनें पूजा स्पेशल के नाम पर ही चल रही हैं। इन ट्रेनों में मिलने वाले तत्काल टिकटों का किराया भी मूल किराया में जोड़ दिया है। मिलने वाली रियायतें भी बंद हैं। बुजुर्गों और बच्चों को भी पूरा किराया देना पड़ रहा है। रेलकर्मियों को पास भी एसी टू और थ्री में पूरी सीट नहीं मिल रही है। ऐसे में यात्रियों के ऊपर बोझ बढ़ गया है। इसको लेकर आम जन, रेलकर्मी और कर्मचारी संगठनों में भी रोष है।

दरअसल, स्पेशल के रूप में ट्रेनों का संचालन तो एक जून 2020 से ही शुरू है। लेकिन रेलवे बोर्ड ने यात्रियों की भीड़ बढ़ी तो रेलवे ने दशहरा से पूजा स्पेशल ट्रेनों का संचालन शुरू कर दिया। प्रमुख त्योहारों और लग्न के बीत जाने के बाद दिसबर में इन ट्रेनों की संचालन अवधि भी बढ़ा दी। किराया कम नहीं किया। यात्रियों को आज भी त्योहारों वाला ही किराया देना पड़ रहा है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!