हेड कांस्टेबल ने पत्नी की हत्या कर खुद ट्रेन से कटकर दी जान, सात बच्चों पर भी बोला हमला…..

पूर्वांचल पोस्ट न्यूज नेटवर्क

गाजीपुर। दिलदारनगर थाना क्षेत्र के उसिया गांव के बाजार मोहल्ला में शनिवार की भोर फतेहपुर में तैनात हेड कांस्टेबल मुंशी सिंह यादव 42 ने छत पर सात बच्चों संग सोयी पत्नी रीना देवी 38 पर धारदार हथियार से वार कर गंभीर रूप से घायल कर देहवल गांव के पास ट्रेन के सामने कूदकर आत्महत्या कर ली। जिला अस्पताल जाते समय पत्नी रीना की मौत हो गई। गंभीर हाल में एक पुत्री व दो पुत्र को उपचार के लिए जिला अस्पताल से वारणसी ट्रामा सेंटर रेफर कर दिया गया। अन्य चार पुत्रियों का उपचार गांव के निजी अस्पताल में हुआ।

फतेहपुर में तैनात हेड कॉन्स्टेबल मुंशी सिंह यादव शुक्रवार की रात खाना खाने के बाद पत्नी व बच्चों संग छत पर सोने चला गया। भोर में करीब चार बजे अचानक मुंशी पत्नी रीना को मारने.पीटने लगा। मां की चीख.पुकार सुन पुत्री व पुत्र उठ गए। लेकिन वह धारधार हथियार से पत्नी और बच्चों पर वार कर घर से भाग निकला। चीख.पुकार सुन छत पर सो रहा बड़े भाई मुनीब की पत्नी और अगल बगल के लोग भी पहुंच गए और घटना की जानकारी पुलिस को दी।

गंभीर रूप से घायल पत्नी रीना 38 पुत्री सुधा 6 पुत्र कृष्णा 2 व श्याम 7 वर्ष को पुलिस जिला अस्पताल लेकर पहुंची तो चिकित्सकों ने पत्नी रीना को मृत घोषित कर दिया वही पुत्र व पुत्री की गंभीर हालत को देखते हुए वाराणसी ट्रामा सेंटर रेफर कर दिया। जबकि पुत्री नेहा 16 ऋतु 13 नीतू 10 वर्ष आठ का प्राथमिक उपचार गांव के निजी अस्पताल में परिजनों ने कराया।

चिड़चिड़ा हो गए थे पिता

बड़ी पुत्री नेहा ने बताया कि पिता चर्म रोग से पीड़ित होने के कारण चिडचिड़ा हो गए थे। रात में हम भाई बहन मां और पिता संग छत पर सो रहे थे। अचानक भोर में मां रीना चीखने चिल्लाने लगी तो हम लोग उठे और मां को छुड़ाने लगे लेकिन पिता धारधार हथियार से शरीर पर वार कर भाग निकले। पिता ने ऐसा क्यों किया यह समझ में नही आ रहा है। ग्रामीण भी घटना से मर्माहत हैं।

बोले पुलिस अधिकारी

थाना निरीक्षक कमलेश पाल ने बताया कि फतेहपुर में तैनात हेड कांस्टेबल मुंशी सिंह यादव चर्म रोग से पीड़ित होने के कारण उसकी मानसिक स्थिति ठीक नहीं थी। इस कारण उसने पत्नी के साथ ही बच्चों को मौत के घाट उतारने का प्रयास किया। इसके बाद खुद ट्रेन के सामने कूद कर देहवल गांव के पास आत्महत्या कर ली।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *