यहां डीएम आफिस पर भाजपा के विधायकों ने किया प्रदर्शन…….. धांधली का आरोप,, BJP सांसद ने भी लगाया गम्भीर आरोप…….

भारतीय जनता पार्टी के तीन विधायक के साथ एक विधान परिषद सदस्य ने जिलाधिकारी कार्यालय पर पंचायत चुनाव में मतगणना में धांधली का आरोप लगाने के साथ उप विजेता को विजेता का प्रमाण पत्र देने के खिलाफ धरना दिया। इन सभी ने एक स्वर में कहा कि यहां पर तो हमारी पार्टी के प्रत्याशियों को धांधली से हरवाने के साथ मतगणना में भी काफी हेराफेरी की गई है। एटा की डीएम विभा चहल ने इस दौरान इन सभी को समझाने का भी प्रयास किया।

मोहनलालगंज से सांसद कौशल किशोर ने भी मतगणना में बड़े पैमाने पर हुई गड़बड़ी की जांच कराने की मांग की है।

एमएलसी धर्मवीर प्रजापति के साथ विधायक संजीव दिवाकर, सत्यपाल सिंह राठौर और वीरेंद्र लोधी धरने पर बैठे। धर्मवीर प्रजापति ने कहा कि यहां पर तो काउंटिंग शुरू होने के बाद एजेंटों को फोन आने लगे कि उन्हेंं मतगणना केंद्र से बाहर किया जा रहा है और एक-दो घंटे में ही हमारे काफी प्रत्याशियों को पीछे कर दिया गया। इस बात की जानकारी हमने जिलाधिकारी, के साथ सीडीओ समेत जिले के सभी जिम्मेदार अधिकारियों को दी है। हम सभी को अब पता चल गया है कि अधिकारी काफी मजबूत है। इन सभी अधिकारियों ने अपने लोगों को सही सिद्ध किया है और हम से कहा कि आपके पास फर्जी जानकारी आ गई है। यहां पर भाजपा के विधायकों ने आरोप लगाया है कि वॉर्ड नंबर 10 से पहले बीजेपी समर्थित उम्मीदवार की जीत का ऐलान कर दिया गया था, लेकिन एक दिन बाद सर्टिफिकेट किसी और को थमा दिया गया। बाद में वॉर्ड नंबर 10 का प्रमाण पत्र वापस लेकर भाजपा समर्थित उम्मीदवार को दिया गया। अब यह बताया जा रहा है कि प्रमाणपत्र आरओ तथा एआरओ ने गलती से दे दिया था। अब विधायकों ने यहां भी सभी 30 सीटों पर किसी दूसरे निर्वाचन अधिकारी की देखरेख में फिर से मतगणना कराने की मांग की है। एलएलसी धर्मवीर प्रजापति एटा जिला पंचायत चुनाव के प्रभारी भी थे। इनके साथ धरने पर जिले के मारहरा सीट से विधायक वीरेंद्र लोधी, अलीगंज से विधायक सत्यपाल सिंह राठौर तथा जलेसर के विधायक संजीव दिवाकर बैठे थे। इन सभी ने कहा कि हम फिर से काउंटिंग चाहते हैं। इन पर हमें भरोसा नहीं है। सभी मतगणना कॢमयों ने शिकायतों को नजरअंदाज किया गया है। जिला प्रशासन का समाजवादी पार्टी से गेम फिक्स था।

मोहनलालगंज सांसद ने लगाया धांधली का आरोप: लखनऊ में मोहनलालगंज से भारतीय जनता पार्टी के सांसद कौशल किशोर ने भी धांधली का आरोप लगाया है। यहां से लगातार दूसरी बार सांसद कौशल किशोर का आरोप है कि लखनऊ में जिला पंचायत वार्ड आठ, 18 तथा 19 से भारतीय जनता पार्टी के प्रत्याशी जीते हैं, लेकिन उप विजेताओं को जीत का प्रमाण पत्र दे दिया गया है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *