अनूठी शादी, कोरोना वायरस संक्रमण काल में सिर्फ एक बराती, जानें. इस विवाह की खासियत….

पूर्वांचल पोस्ट न्यूज नेटवर्क

प्रयागराज। प्रयागराज शहर के धूमनगंज के प्रीतम नगर के रहने वाले यतींद्र कश्यप ने अनूठी शादी रचाकर मिशाल पेश की। कोरोना संक्रमण से बचाव को लेकर जो भी नियम जारी किए गए हैं। उसका बखूबी पालन किया। न बैंड बाजा था, न बराती, सिर्फ दूल्हा और बराती के तौर पर उनकी बड़ी बहन थीं। बेहद सादगीपूर्ण माहौल में यतींद्र कश्यप ने विवाह रचाकर उन लोगों को सीख दी है। जो कोरोना महामारी के इस दौर में भी नियमों का उल्लंघन कर रहे हैं।

माता.पिता और रिश्तेदारों को शादी में शामिल होने से किया मना

यतींद्र कश्यप ने अपने विवाह का कार्ड को नाते.रिश्तेदारों समेत करीबियों को भी दिया। लेकिन उसने यह कहते हुए शादी में शामिल होने से मना भी किया कि कोरोना संक्रमण काल चल रहा है। इसलिए इसमें आने से परहेज करें। उन्होंने मोबाइल पर भी ऑनलाइन सभी से आशीर्वाद भी लिया। माता.पिता को भी वे अपने साथ नहीं ले गए। क्योंकि माता.पिता की उम्र 60 वर्ष से अधिक है। कोरोना संक्रमण से बड़ी संख्या में बुजुर्ग प्रभावित हो रहे हैं। इसलिए उसने माता.पिता को घर पर ही रहने को कहा।

सेहरा पहनकर खुद चलाई कार

प्रीतम नगर स्थित आवास से यतींद्र सेहरा पहनकर निकले तो उनके साथ उनकी बड़ी बहन थीं। कार खुद यतींद्र ने चलाकर अपनी होने वाली ससुराल मीरापुर पहुंच गए। यहां उनकी होने वाली दुल्हन जलपरी तरुणा निषाद के पिता त्रिभुवन निषाद ने उनकी आगवानी की। मंत्रोच्चारण के बीच उनको तिलक लगाया और विवाह मंडप तक ले गए। यहां यतींद्र और तरुणा ने एक.दूसरे को जयमाल पहनाई और परिणय सूत्र में बंध गए।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *