यूपी में 12 वीं तक के सभी स्कूल, कॉलेज में इतने मई तक छुट्टी, ऑनलाइन क्लास भी नहीं चलेंगी…..

पूर्वांचल पोस्ट न्यूज नेटवर्क

यूपी में कोरोना संक्रमण के कारण कक्षा एक से 12 वीं तक के सभी स्कूल कॉलेल में 10 मई तक छुट्टी रखने के आदेश जारी हुए हैं। इस दौरान कोचिंग संस्थाएं भी बंद रहेंगी। वहीं ऑनलाइन कक्षाएं भी स्थगित रखी जाएगी। आज शुक्रवार रात 08 बजे से मंगलवार सुबह 07 बजे तक तक के साप्ताहिक कोरोना कर्फ्यू को प्रभावी ढंग से लागू करने के आदेश जारी हुए हैं। इस दौरान औद्योगिक गतिविधियां यथावत संचालित होती रहेंगी। टीकाकरण के लिए आवागमन करने वालों को भी छूट दी जाएगी। इसके अलावा केवल आवश्यक सेवाएं जारी रहेगी। आवश्यकतानुसार पास जारी किया जा सकता है।

मुख्यमंत्री योगी आदित्त्यनाथ ने कोरोना नियंत्रण टीम के साथ बैठक में कहा कि मरीजों के परिजनों को हर दिन उनके मरीज के स्वास्थ्य की जानकारी जरूर दी जाए। सभी सरकारी और निजी अस्पताल में यह व्यवस्था प्रभावी ढंग से लागू की जाए। मुख्य सचिव कार्यालय इस व्यवस्था की समीक्षा करें। ऑक्सीजन की आपूर्ति और बेहतर किये जाने की आवश्यकता है। हर दिन बेहतर होती जा रही है। लागातर प्रयासों से आज प्रदेश के सभी मेडिकल कॉलेजों में ऑक्सीजन की उपलब्धता कराई जा रही है। लखनऊ, कानपुर, प्रयागराज, वाराणसी जैसे अधिक संक्रमण वाले जिलों में स्थिति पर लगातार नजर रखी जा रही है। आगरा के लिए विशेष प्रबंध किए गए हैं। इसी प्रकारए बलियाए चंदौली, अमरोहा, बिजनौर, लखीमपुर, बहराइच जैसे जिलों की ओर विशेष ध्यान दिए जाने की आवश्यकता है। इन्हें संबंधित मंडलों से आपूर्ति कराई जाए। मुख्यमंत्री ने कहा कि ऑक्सीजन के संतुलित उपयोग के दृष्टिगत ऑक्सीजन ऑडिट की प्रारंभिक रिपोर्ट के आधार पर आपूर्ति.वितरण के संबंध में आगे की कार्यवाही की जाए। किसी भी मेडिकल कॉलेज अस्पताल में ऑक्सीजन का अनावश्यक उपयोग न हो। अब पश्चिम बंगाल के तीन क्षेत्रों और जमशेदपुर से भी आपूर्ति हो रही है। दो नई ऑक्सीजन रेल संचालित की जा रही है। उद्योग जगत से भी सहयोग प्राप्त हो रहा है। सीएम ने कहा कि ऑक्सीजन टैंकरों की उपलब्धता बढ़ाये जाने के लिए सभी प्रयास किये जा रहे हैं।विदेश से भी टैंकरों की आपूर्ति है। उद्योग जगत से भी सहयोग मिल रहा है। ऐसे में आपूर्ति के लिए टैंकरों की संख्या भी बढ़ी है।सभी ऑक्सीजन टैंकर जीपीएस से लैस रहें। उनकी लाइव मॉनिटरिंग की जाए।

मुख्यमंत्री ने कहा कि कोविड कार्य में आवश्यकता के अनुसार मानव संसाधन की व्यवस्था सुनिश्चित कराई जाए। मेडिकल नर्सिंग फार्मेसी के अंतिम वर्ष के छात्रों का सहयोग लिया जाए। एक्स आर्मी मैन सेवानिवृत्त मेडिकल स्टाफ की सेवाएं ली जानी चाहिए। आयुष विभाग द्वारा जागरूकता प्रसार के दृष्टिगत विशेष प्रयास किये जाने की जरूरत है। घर.घर आयुष काढ़ा उपलब्ध कराया जाए। इम्यूनिटी बढ़ाने के संबंध में आयुष विधियों के सरल उपायों से लोगों को अवगत कराया जाना चाहिए। आयुष कवच एप का व्यापक प्रचार.प्रसार किया जाए। स्वच्छताए सैनिटाइजेशन तथा फाॅगिंग कार्य युद्ध स्तर पर किया जाए। इसके लिए फायर विभाग के वाहनों का भी उपयोग किया जाए। मास्क के अनिवार्य उपयोग के सम्बन्ध में प्रवर्तन की कार्यवाही प्रभावी ढंग से जारी रखी जाए। शहरी एवं ग्रामीण क्षेत्रों में निगरानी समिति पूरी सक्रियता से कार्य करें। सीएम ने होम आइसोलेशन में इलाजरत लोगों की जरूरतों का पूरा ध्यान रखा जाए। सीएम हेल्पलाइन 1076 से इन लोगों से हर दिन संवाद बनाया जाए। तय प्रोटोकॉल के अनुरूप इन्हें दवाओं का मेडिकल किट उपलब्ध कराया जाए। मेडिकल किट वितरण में निगरानी समितियों की इसमें महत्वपूर्ण भूमिका है। इनसे लागातर संवाद बनाते हुए व्यवस्था को सुचारू रखा जाए।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!