यहां होते बचा बिकरू कांड, दबिश देने गई पुलिस टीम पर हमला, दो दारोगा समेत पांच घायल….

पूर्वांचल पोस्ट न्यूज नेटवर्क

लखनऊ। राजधानी के माल क्षेत्र के उमरावल गांव में बुधवार सुबह कानपुर के बिकरू कांड जैसी घटना होते.होते बच गई। एससी.एसटी एक्ट के आरोपित वारंटी दो भाइयों की गिरफ्तारी के लिए गई पुलिस टीम पर उसके घर वालों और मोहल्ले वालों ने हमला बोल दिया। जमकर पथराव किया और लाठी.डंडे चलाए। हमले के दौरान दो दारोगाओं को एक घंटे बंधक बनाए रखा। हमले में दो दारोगा समेत पांच पुलिस कर्मी चोटिल हो गए। सूचना पर भारी पुलिस बल पहुंचा और एक महिला समेत दो लोगों को गिरफ्तार कर लिया। पुलिस अन्य हमलावरों की तलाश में दबिश दे रही है।

जानकारी के मुताबिक उमरावल गांव निवासी रजनीश मौर्या उर्फ कृष्णा और उसके भाई अंकित के खिलाफ वर्ष 2014 में एससी.एसटी एक्ट समेत अन्य धाराओं में मुकदमा दर्ज हुआ था। दोनों आरोपित न्यायालय के समक्ष प्रस्तुत नहीं हो रहे थे। न्यायालय ने उनके खिलाफ गैर जमानती वारंट जारी किया था। इस पर दबिश के ल‍िए माल थाने के दारोगा प्रेम चंद्र यादव, दारोगा नीरज, सिपाही उमेश, विवेक और अजय यादव आरोपित के घर दबिश देने गए थे। पुलिस टीम रजनीश मौर्या और उनके भाई की गिरफ्तारी के लिए दबिश देने के लिए दाखिल हो रही थी। इस सूचना पर दोनों के परिवारीजनों ने पुलिस टीम को घेर लिया। शोर सुनकर आस पड़ोस के लोग भी आ गए। सबने पुलिस टीम को लाठी.डंडे लेकर घेर लिया और हमला बोल दिया। हमले के दौरान कुछ पुलिस कर्मी भागे तो उन पर पथराव कर दिया। वहीं, हमलावरों ने दारोगा प्रेम चंद्र यादव और नीरज को बंधक बना लिया।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!