चकिया के ड़वरी कला गांव में गंदगी का अंबार, सफाई कर्मी नदारत, गांव में सफाई कर्मी जाना नहीं समझते मुनासिब, ब्लाक व ग्राम प्रधान से ही निपट जाता है सफाई कर्मियों काम….

पूर्वांचल पोस्ट न्यूज नेटवर्क

क्षेत्रवासियों का आक्रोश सातवें आसमान

चकिया, चंदौली। गांवों को स्वच्छ व साफ सुथरा रखने के लिए भले ही सरकार पानी की तरह धन बहा रही है लेकिन ग्रामीण क्षेत्रों में स्थिति इससे इतर है। इस सच को स्थानीय तहसील अंतर्गत ड़वरी कला गांव में देखा जा सकता है। यहां स्वच्छता के नाम पर कुछ नहीं हो रहा है। इसकी वजह से क्षेत्रवासियों का आक्रोश सातवें आसमान पर है।


साफ सफाई व्यवस्था को चाक चौबंद करने के लिए गांवों में सफाई कर्मियों की तैनाती की गई थी लेकिन अफसरों की अरुचि के चलते सफाई व्यवस्था का बुरा हाल है। गांवों में तैनात किए गए सफाई कर्मियों की निगरानी की जिम्मेदारी बीडीओ और एडीओ पंचायत की है। फिर भी सफाई कर्मी घर बैठे ही ड्यूटी पूरी कर लेते हैं। नियमित सफाई न होने से गांव की गलियों व कस्बों की सड़कों पर गंदगी का अंबार है। हकीकत देखनी हो तो ड़वरी कला गांव आइए। लेकिन सफाई कर्मी गायब रहते हैं। नतीजतन गांव में जगह जगह कूड़े का ढेर लगा हुआ है तो नालियां दुर्गंध वातावरण के साथ बजबजा रही हैं। गांव के ग्रामीणों ने बताया कि सफाईकर्मियों की मनमानी के चलते गांव में जगह जगह कूड़े कचरे का ढेर लगा है और जिम्मेदार चुप्पी साध कर बैठे हैं। बताया कि इस गांव में सफाईकर्मी कभी आते ही नहीं हैं।


वर्जन-
एडीओ पंचायत ने बताया कि जल्द से जल्द ड़वरी कला गांव में सफाई कर्मी भेंजकर गांव को पूरी तरह से साफ सूथरा कराया जायेगा। यदि सफाई कार्य में सफाई कर्मचारी लापरवाही बरतते हैं तो उनके खिलाफ कार्यवाई की जायेगी।
सतेन्द्र श्रीवास्तव, एडीओ पंचायत चकिया।

फाइल फोटो

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!