चकियाः डिफाल्टर श्रेणी में कत्तई न आए-डीएम , अधूरे आवास की शिकायत पर डीएम ने दिया जांच का निर्देश, संपूर्ण समाधान दिवस में कुल 52 फरियादियों ने लगाई गुहार…..

पूर्वांचल पोस्ट न्यूज नेटवर्क

चकिया, चंदौली। स्थानीय तहसील सभागार में मंगलवार की सुबह 10 बजे से जिलाधिकारी संजीव सिंह के अध्यक्षता में जिलास्तरीय संपूर्ण समाधान दिवस का आयोजन किया गया। 2 बजे तक चले सुनवाई में कुल 52 फरियादियों ने अपनी समस्या के निस्तारण के लिए फरियाद किया। जिसमें 5 शिकायतों का मौके पर निस्तारण किया गया। वहीं जिलाधिकारी ने अधिकारियों को निर्देश देते हुए कहा कि संपूर्ण समाधान दिवस को गंभीरता से लें। शिकायतों का निस्तारण गुणवत्ता व स्थलीय निरीक्षण के साथ किया जाए।
जिलाधिकारी के अध्यक्षता में आयोजित संपूर्ण समाधान दिवस में फरियादियों की काफी भीड़ देखी गई। इस दौरान शहाबगंज विकास खंड के ग्राम पंचायत डुमरी गांव में विकास कार्यो की जांच कराने से संबंधित शिकायत पर जिलाधिकारी ने संबंधित अधिकारी को निर्देश दिया। वहीं इसी ब्लाक के सरैया गांव में चकरोड़ पर कब्जा करने की शिकायत पर उपजिलाधिकारी चकिया व थाना बबुरी को संयुक्त जांच के निर्देश दिए।
वहीं स्थानीय नगर पंचायत के वार्ड नंबर 9 सड़क के किनारे मानक के विपरित सरकारी देशी शराब की दुकान हटवाने के संबंध में दिए गए शिकायत पर जिलाधिकारी ने आबकारी अधिकारी को निर्देशित करते हुए कहा कि मानक के अनुसार स्थान चिन्हित कर दुकान को स्थापित कराया जाए।
शहाबगंज के ही ग्राम ढोढनपुर निवासी मुराही देवी द्वारा अधूरा आवास की शिकायत पर जिलाधिकारी ने जाँच कर रिपोर्ट प्रस्तुत करने के निर्देश जिला विकास अधिकारी को दिए। कौड़िहार पंप कैनाल बंद होने की शिकायत पर सिंचाई लघुडाल को तीन दिन के भीतर मशीन बनवाने के साथ नहर को पूरी क्षमता के साथ चलाने के निर्देश दिए। ग्राम दिरेहु में बिना शौचालय निर्माण करवाएं ही शौचालय का पूरा पैसा कागज पर निकाल लेने की शिकायत पर मुख्य विकास अधिकारी व जिला पंचायत राज अधिकारी को जांच कर संबंधित के खिलाफ कठोर कार्रवाई के निर्देश दिए।
जिलाधिकारी संजीव सिंह ने इस अवसर पर समस्त जिला स्तरीय अधिकारियों को निर्देशित करते हुए कहा कि जन सामान्य की समस्याओं एवं शिकायतों को लेकर शासन गंभीर है। समस्त अधिकारी शासन व सरकार की मंशा को स्पष्ट रूप से समझें और उसी के अनुरूप तहसील दिवस में जो शिकायतें प्राप्त हुई हैं। सभी संबंधित शिकायतों का निराकरण पूर्ण गुणवत्ता के साथ निर्धारित समय अवधि के भीतर करते हुए उसकी रिपोर्ट तहसील को तत्काल प्रभाव से उपलब्ध कराई जाए ताकि सभी शिकायतों का ब्यौरा ऑनलाइन सुनिश्चित किया जा सके। साथ ही जनसुनवाई एवं ऑनलाइन प्राप्त संदर्भ को प्रतिदिन अनुश्रवण किया जाए एवं उचित कार्यवाही सुनिश्चित हो। डिफाल्टर श्रेणी में कतई ना आने के निर्देश दिए कहा कि प्राप्त प्रार्थना पत्रों का गुणवत्तापूर्ण आख्या अपलोड करें साथ ही शिकायतकर्ता से वार्ता कर निस्तारण को अवगत कराएं।
इस दौरान पुलिस अधीक्षक अमित कुमार, उपजिलाधिकारी अजय मिश्रा, पुलिस क्षेत्राधिकारी प्रीति तिवारी, कोतवाल रहमतुल्लाह खां, मुख्य चिकित्साधिकारी डॉ. बीपी द्विवेदी, तहसीलदार फूलचंद्र प्रसाद, जिला विकास अधिकारी पदमकांत शुक्ला, जिला विद्यालय निरीक्षक, मुख्य पशु चिकित्सा अधिकारी उपनिदेशक कृषि, जिला कार्यक्रम अधिकारी, जिला प्रोबेशन अधिकारी, जिला समाज कल्याण अधिकारी, जिला बेसिक शिक्षा अधिकारी, जिला पूर्ति अधिकारी उपस्थित रहे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!