काल डिटेल से खुलेगी तेजाब से जलाने की गुत्थी, संदिग्‍ध महिला पर टिकी पुलिस की नजर…..

पूर्वांचल पोस्ट न्यूज नेटवर्क

गोरखपुर। सब्जी विक्रेताओं को किसने और क्यों जलाया पुलिस यह गुत्थी अभी तक सुलझा नहीं सकी है। हिरासत में ली गई महिला व उसके सहयोगी से पूछताछ में कोई जानकारी नहीं मिली है। अब काल डिटेल के जरिए आरोपित तक पहुंचने की कोशिश चल रही है।

हिरासत में ली गई महिला ने कहा ढाई महीने से नहीं थी बातचीत

कैंट क्षेत्र की रहने वाली महिला ने पूछताछ में बताया कि सब्जी विक्रेता सोनू से पहले उसकी बातचीत होती थी। मनमुटाव होने के बाद ढाई महीने से वह मुलाकात नहीं हुई। इस घटना से उसका कोई लेना.देना नहीं है। मेडिकल कालेज में भर्ती सोनू की हालत स्थिर बनी हुई है। मामूली रुप से झुलसे दूसरे सब्जी विक्रेता विवेक को प्राथमिक उपचार के बाद छुट्टी मिल गई है।

खोराबार पुलिस ने तेजाब फेंकने वाले युवक का हुलिया और गाड़ी के बारे में जानने के लिए विवेक से बातचीत की। उसने बताया कि तेजाब फेंकने वाले युवक ने हेलमेट व मास्क लगाया था जिसकी वजह से उसका चेहरा नहीं देख पाया। अंधेरा होने की वजह से गाड़ी नंबर भी नहीं देख सका। सीओ कैंट अजय सिंह ने बताया कि सर्विलांस की मदद से गुत्थी को सुलझाने की कोशिश चल रही है। हिरासत में ली गई महिला व सब्जी विक्रेता के काल डिटेल की जांच चल रही है।जल्द ही गुत्थी सुलझा ली जाएगी।

दुकान पर पूछते हुए पहुंची महिला कौन

दो दिन पहले सोनू के सब्जी की दुकान पर एक महिला पहुंची थी। उस समय दुकान पर सोनू नहीं था। आसपास के दुकानदारों से पूछने के बाद वह चली गई। छानबीन में यह बात सामने आने के बाद खोराबार पुलिस ने दुकानदारों को बुलाकर हिरासत में ली गई महिला की पहचान कराई लेकिन उन्होंने मना कर दिया। जिसके बाद पुलिस उस महिला के बारे जानकारी जुटा रही है।

यह है मामला

जंगल सिकरी के रहने वाले सोनू मद्देशिया व विवेक खोराबार में ब्लाक के सामने सब्जी की दुकान लगाते हैं।गुरुवार की रात में 10 बजे दोनों दुकान बंद कर पैदल घर जा रहे थे। दयानंद इंटर कालेज के सामने पीछे से आए बाइक सवार युवक ने रोककर तेजाब फेंक दिया। राहगीरों की मदद से स्थानीय लोगों को दोनों को जिला अस्तपाल ले गए जहां से सोनू को मेडिकल कालेज रेफर कर दिया गया।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!