दो बच्चों के होते हुए महिला को पसंद रहा प्रेमी का साथ, तो पति ने उठाया कदम

भागलपुर
फिल्मों के रुपहले पर्दे पर आपने अकसर देखा होगा कि एक पति अपनी पत्नी को उसके प्रेमी से मिलाने के लिए एड़ी चोटी की जोर लगा देता है। इस दौरान परिवार और समाज की आलोचनाओं के बावजूद पति अपनी प्यारी सी पत्नी के होठों पर एक मुस्कुराहट के लिए कुछ भी करने को तैयार हो जाता है। लेकिन क्या ऐसा रियल लाइफ में भी मुमकिन है, इसकी संभावना बेहद कम ही होती है। लेकिन भागलपुर में ऐसा ही चौंकाने वाला मामला सामने आया। जहां एक शख्स अपनी पत्नी से इतना प्यार करता है कि उसकी खुशी के लिए एक तरह से खुद के प्यार की कुर्बानी दे दी। जानिए क्या है पूरा मामला…

: वो कहते हैं ना शादी के समय जो सात फेरे लिए जाते हैं वह सात जन्मों तक चलता है, लेकिन इस मामले में ऐसा बिल्कुल भी नहीं हुआ। सात फेरों का पवित्र रिश्ता महज सात साल भी नहीं चल सका। जानकारी के मुताबिक, करीब सात साल पहले ही खगड़िया की रहने वाली सपना कुमारी का विवाह भागलपुर के सुल्तानगंज में रहने वाले उत्तम मंडल से हुई थी। शादी के कुछ दिन बाद तक पति-पत्नी के बीच में काफी प्रेम नजर आया। फिर उसके बाद जो भी कुछ हुआ इसने तो इस रिश्तों को तार-तार कर दिया

परिजनों के अनुसार, उत्तम मंडल के घर आए एक रिश्तेदार से उनकी पत्नी सपना की आंखें चार हो गई और फिर मामला प्रेम प्रसंग तक बढ़ गया। इसकी भनक जब पति उत्तम को लगी तो कई दफा उन्होंने इस रिश्ते का विरोध किया, लेकिन सपना कहां मानने वाली थी। दिन बीतने के साथ ही दंपती को दो बच्चे भी हुए। बावजूद इसके सपना के दिल में उस युवक के लिए प्यार बढ़ता चला गया। ऐसे में पति और पत्नी के रिश्तों में खटास आना लाजमी थी

मायके और ससुराल वालों के बराबर समझाने पर भी सपना नहीं मानी। जिसके बाद उत्तम मंडल ने आखिरकार सपना को अपने प्रेमी से शादी रचाने की सहमति दे दी। उत्तम ने अपने ही रिश्तेदार राजू कुमार से अपनी पत्नी सपना की शादी परिजनों की उपस्थिति में सुल्तानगंज के बड़ी दुर्गा मंदिर में करवा दिया। अपने पति की मौजूदगी में पत्नी ने अपने प्रेमी के साथ सात फेरे लिए। इसी के साथ कल तक जो प्रेमी था वो अब पति बन गया।

: शादी संपन्न होने के बाद दोनों नव जोड़ों ने उत्तम मंडल का भी आशीर्वाद लिया। उत्तम ने भी उनको निराश नहीं किया, और सुखी दांपत्य जीवन के लिए आशीर्वाद दिया। हालांकि, इस पूरे घटनाक्रम के दौरान उत्तम मंडल की आंखें जरूर नम हो गई। रोते-रोते उसने बस इतना कहा कि जोड़ियां ऊपर वाले के हाथ में होती है। वहीं इस अनोखी शादी की भनक जैसे ही स्थानीय लोगों को हुई तो वह भी मंदिर में इसे देखने के लिए पहुंच गए।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!