शाद‍ियों पर पड़ा कोरोना का साया, सहालग शुरू…..लेकिन टल रहे मांंगल‍िक कार्यक्रम…..

पूर्वांचल पोस्ट न्यूज नेटवर्क

लखनऊ। कोरोना संक्रमण का असर अब शादी विवाह जैये मांगलिक कार्यक्रम पर भी पड़ने लगा है। गुरुवार से सहालग का दौर भले ही शुरू हो गया होे। लेकिन लोग शादियों को टालने में लगे हैं। इस साल विवाह के 62 मुहूर्त हैं। तीन महीने के इंतजार के बादसहालग का दौर शुरू हुआ। लेकिन मांगलिक कार्यो पर कोरोना का ग्रहण लग गया है। आचार्य एसएस नागपाल ने बताया कि 13 दिसंबर तक विवाह के शुभ मुहूर्त हैं। अप्रैल से दिसंबर के बीच विवाह के 62 मुहूर्त बन रहे हैं। 15 जुलाई तक शादियां होंगी। 20 जुलाई से देवशयनी एकादशी से चतुर्मास शुरू हो जाएंगे। चतुर्मास 15 नवंबर तक रहेगा । इस बीच भी विवाह आदि कार्य नहीं होंगे।

शादियों के मुख्य शुभ मुहूर्त

अप्रैल. 26, 27, 28, 29 व 30।
मई. 1, 2, 3 ,7 ,8 ,9 ,12, 13, 14, 19, 20, 21, 22, 24, 26, 27, 28, 29 व 30।
जून. 3, 4, 5 ,11, 15 ,16, 17, 18, 19, 20, 21, 22, 24 व 26 ।
जुलाई. 1, 2, 6, 7, 12, 13 व 15।
नवंबर. 20, 21, 26, 27, 28, 29 व 30।
दिसंबर. 1, 2, 5, 7, 12 व 13।
अक्षय तृतीया 14 मई

अक्षय तृतीया पर शादी का शुभ मुहूर्त है। भगवान विष्णु के छठें अवतार परशुराम के पूजन के इन दिन शादियां करके लोग अटूट बंधन की कामना करते हैं। 14 मई को अक्षय तृतीया है। ब्राह्मण समाज की ओर से पूजा की जाती है। कथानक है कि शिव जी ने तपस्या से खुश होकर इन्हें फरसा प्रदान किया था। फरसे के नाम से ही इनका नाम राम से परशुराम हो गया। भगवान परशुराम के जन्मोत्सव का आयोजन को होगा। कोरोना संक्रमण के चलते घरों में दीपदान के साथ ही आनलाइन हवन का आयोजन होगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *