पहले बेटी की डोली उठी फिर सजी मां की अर्थी, बिलख पड़ा पूरा परिवार 

वाराणसी, पूर्वांचल पोस्ट न्यूज नेटवर्क

शिवदासपुर में शुक्रवार की सुबह लोगों ने कलेजा थाम कर पहले बेटी की डोली उठते हुए और फिर मां की अर्थी सजते देखा। स्थानीय लोगों का कहना था कि जिस तरह से दूल्हे और उसके पिता ने खुद के विशाल हृदय और संवेदनशील होने का परिचय दिया है, वैसा आजकल यदाकदा ही देखने को मिलता है।

मंडुवाडीह थाना अंतर्गत शिवदासपुर निवासी हौसिला प्रसाद व श्यामा देवी की बेटी उर्मिला की शादी बीएलडब्ल्यू में रहने वाले गोरखपुर के लक्ष्मणपुर, भिसवा गांव के मूल निवासी सुरेंद्र प्रसाद व ज्ञानती देवी के पुत्र विनय कुमार के साथ शुक्रवार की रात शिवदासपुर स्थित एक मैरिज लॉन से होनी थी। शुक्रवार की रात बारात आने के पहले ही भोर में दुल्हन की मां श्यामा देवी की बीमारी कर कारण अचानक मौत हो गई।

इसे लेकर दुल्हन के घर में कोहराम मच गया। इसकी जानकारी होते ही दूल्हे के पिता ने मौके पर पहुंच कर गमगीन परिजनों को ढांढस बंधाया तो पत्नी की मौत का गम कुछ देर के लिए भूलकर दुल्हन के पिता ने आननफानन बेटी की शादी की रस्म सादगीपूर्ण तरीके से निभाई। बेटी की विदाई करते ही एक बार फिर उसके पिता और भाई बिलख-बिलख कर रोने लगे और उसकी मां की अर्थी सजाई गई। परिजनों को बिलखता देख ग्रामीण भी अपनी आंखों से आंसुओं की धार रोंक न पाए। इस घटना से पीड़ित परिजनों के साथ ही इलाके के लोग भी खासे गमगीन दिखे और सभी का कहना था कि आखिरकार होनी को कौन टाल सकता है।

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!