कोरोना के बढ़ते मामलों के बीच 7 दिनों का लॉकडाउन, अदालत से लेकर दफ्तर तक सब बंद…..

पूर्वांचल पोस्ट न्यूज नेटवर्क

ढाका। बांग्लादेश सरकार ने कोरोना वायरस के बढ़ते मामलों को देखते हुए देश भर में सोमवार से एक हफ्ते तक देशव्यापी लॉकडाउन का आदेश दिया है। ढाका ट्रिब्यून अखबार के हवाले से बताया गया है कि बांग्लादेश के सड़क परिवहन मंत्री ओबैदुल कादिर ने शनिवार को पत्रकरों संग बातचीत में यह जानकारी दी। बांग्लादेश में शुक्रवार को कोरोना वायरस के 6,830 नए मामलों को दर्ज किए गए है। जो एक दिन में सबसे अधिक संख्या है।

देश में कोरोना के कुल मामलों की संख्या 6 लाख 24 हजार 594 पहुंच गई है। सरकार की ओर से जारी आंकड़ों के मुताबिक 24 घंटे में 50 नई मौत से मरने वालों का आंकड़ा बढ़कर 9,155 हो गया है। इससे पहले बुधवार को कोरोना के 5,358 नए मामले दर्ज किए गए थे। जो पिछले साल मार्च में देश में महामारी के बाद से सबसे अधिक एकदिवसीय उछाल है।

सत्तारूढ़ अवामी लीग के महासचिव कादिर ने कहा कि कोरोना वायरस के प्रसार को रोकने करने के लिए सरकार ने सोमवार से सात दिनों के लॉकडाउन को लागू करने का फैसला किया है। क्योंकि देश भर में मौतों के मामले लगातार बढ़ रहे हैं। हालांकि, यह आदेश आपातकालीन सेवाओं पर लागू नहीं होगा।

रिपोर्ट में कहा गया है कि लॉकडाउन के दौरान फैक्ट्रियां खुली रहेंगी और श्रमिक कोरोना गाइडलाइंस का पालन करके शिफ्ट में काम कर सकते हैं। राज्य सरकार के लोक प्रशासन मंत्री फरहाद हुसैन ने ढाका ट्रिब्यून के हवाले से कहा इस बंद के दौरान हर कार्यालय और अदालत बंद रहेंगे। लेकिन उद्योग और मिलें रोटेशन पर अपना काम जारी रखेंगी।

सोमवार को प्रधानमंत्री कार्यालय ने एक 18.सूत्रीय निर्देश जारी कियाए जिसमें संक्रमण की उच्च दर वाले क्षेत्रों में सभी सार्वजनिक समारोहों पर प्रतिबंध शामिल है। इसमें सामाजिक, राजनीतिक और धार्मिक सहित सभी प्रकार के आयोजनों में सभाओं को सीमित करने के लिए कहा गया है। आगे कहा गया है कि बसों को यात्रियों को उनकी बैठने की क्षमता से आधे से अधिक ले जाने की अनुमति नहीं होगी और उन्हें सुरक्षा दिशानिर्देशों का सख्ती से पालन करना होगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *