यहां पर तबाही मचाने के बाद आगे बढ़ा चक्रवात यास, सीएम ने किया समीक्षा बैठक…..

पूर्वांचल पोस्ट न्यूज नेटवर्क

नई दिल्ली। अति गंभीर चक्रवात का रूप धारण कर चुके यास चक्रवात ओडिशा के तट से टकरा गया है। जो 2.3 घंटों तक चलेगी। इसकी वजह से कई इलाकों में तेज हवाएं और भारी बारिश हो रही है। कई जगहों पर पेड़ों के उखड़ने की तस्वीर भी देखने को मिली है। यास की वजह से पश्चिम बंगाल में तट के कई किमी दूर तक दूकानों और घरों में पानी भर गया है। मौसम विभाग ने बंगाल व ओडिशा के लिए रेड अलर्ट ;भारी बारिश की आशंका जारी किया है। वहीं चक्रवात से खतरे को देखते हुए बंगाल और ओडिशा में 12 लाख से अधिक लोगों को सुरक्षित स्थानों पर पहुंचाया गया है। झारखंड तमिलनाडु आंध्र प्रदेश और अंडमान निकोबार द्वीप में भी बचाव के लिए तैयारियां तेज कर दी गई हैं।
पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने नबन्ना में चक्रवात यास के मद्देनजर जिलाधिकारियोंए आपदा प्रबंधन समिति और अन्य अधिकारियों के साथ समीक्षा बैठक की। ओडिशा में चक्रवात यास की वजह से भद्रक ज़िले के धामरा में बाढ़ जैसे हालात बन गए हैं।पश्चिम बंगाल के पूर्व मेदिनीपुर के दीघा में तेज हवाओं के साथ बारिश हुई। बारिश की वजह से दीघा में बाढ़ जैसे हालात बन गए हैं। ओडिशा के पारादीप में चक्रवात श्यासश् की वजह से मछली पकड़ने वाली नावों को नुकसान पहुंचा है। वहींए झारखंड के रांची में भी तेज हवाएं चल रही हैं और मौसम में बदलाव आया है।

मौसम विभाग ने बताया कि चक्रवात यास ने आज सुबह 10ः30 बजे से 11ः30 बजे के बीच बालासोर से लगभग 20 किमी दक्षिण में उत्तर ओडिशा तट को पार किया। इस दौरान हवा की गति 130.140 किमी प्रति घंटे से 155 किमी प्रति घंटे रही। इसके बाद यह उत्तर.पश्चिम की ओर बढ़ गया। इसके अगले 3 घंटों के दौरान धीरे.धीरे गंभीर चक्रवाती तूफान और बाद के 6 घंटों के दौरान चक्रवाती तूफान में कमजोर होने की संभावना है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!