चकियाः इंजीनियर ने आजीज आकर प्रदेश सरकार पर आरोप लगाते हुए अपने नौकरी से दिया इस्तीफा……चकिया के सम्मान के लिए हमेशा लड़ता रहूंगा…..कोरोना काल में किया था गांव-गांव……….

पूर्वांचल पोस्ट न्यूज नेटवर्क

चंदौली। चकिया विधानसभा के समाजवादी पार्टी के वरिष्ठ नेता ने आज इंजीनियर प्रवीण कुमार सोनकर ने अपनी नौकरी से इस्तीफा दे दिया है। उन्होंने बताया कि पूर्वांचल पोस्ट से बातचीत के दौरान बताया कि मैं शुरु से ही समाज सेवा के लिए काफी चिंतित रहता था। और कोरोना काल में मैने नौगढ़ सहित अन्य गांवों में घुमकर दलितों, पिछड़ों, आदिवासियों वनवासी भूखा न सोए इसके लिए सूखा सामग्री का वितरण करता रहा। मैने पूरी निष्ठा इमानदारी से बीते 11 साल से सिंचाई, यांत्रिक, विभाग में इंजीनियर पद पर कार्य करते हुए दायित्वों का निर्वाह किया। मेरे समाजसेवा एवं विचार धारा को लेकर वर्तमान सारकार ने द्वेश भावना से मूझे 12 सिंतबर 2020 को निलंबित कर दिया गया। दलितों, पिछड़ों, अल्य संख्यकों, वनवासियों, किसानों, छात्रों महिलाओं के हक एवं न्याय की लड़ाई के लिए नौकरी में रहकर नहीं लड़ सकता था। नौकरी से इस्तीफा देने पर संघर्ष का दायरा और बढ़ जायेगा। और सच्चे मन से समाजसेवा कर सकुंगा। लचर व्यवस्था एवं दमनकारी नीति से क्षेत्र ही नहीं बल्कि प्रदेश के हर वर्ग के लोग आहत हैं। सरकार नूमाइंदों द्वारा उत्पीड़न चरम पर है।

मैं समस्त तथ्यों को गंभीरता से संज्ञान में लेते हुए नौकरी से इस्तीफा दे दिया हूं। अब पूरा जीवन चकिया विधान सभा के सम्मान स्वाभिमान के लिए समर्पित कर रहा हूं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *