बालीबुड के यह अभिनेता अपने घर मोगा पहुंचकर बने मसीहा, जरूरतमंदों की झोली भर दिखाई उम्मीद की किरण….

पूर्वांचल पोस्ट न्यूज नेटवर्क

मोगा। फिल्म अभिनेता सोनू सूद आज शुक्रवार को अपने घर पहुंचे। घर पहुंचने पर एक बार फिर उन्होंने लाचारी व आर्थिक मजबूरी में जीवन जी रहे लोगों की जिंदगी में एक नई रोशनी की किरण बिखेरी। सोनू सूद ने आज अपने निवास पर दोपहर के समय जैसे ही गहरी धुंध के बीच से सूरज बाहर निकला तो कई ऐसे लोगों की जिंदगी में रोशनी बिखेर दी। जिन्हें हर तरफ अंधेरा लग रहा था।

सोनू सूद ने अपने निवास पर जरूरतमंदों को उनकी जरूरत का सामान दिया। इन्हीं में एक डीएम कॉलेज के अजय कुमार हैं। जो आठ साल पहले सड़क हादसे में एक्सीडेंट होने के बाद पूरी तरह से दिव्यांग हो गए थे। बोलने की शक्ति भी चली गई थी। चलने फिरने की शक्ति छिन गई थी। अजय कुमार उसी डीएम कॉलेज मैं चतुर्थ श्रेणी कर्मचारी थे जहां कभी उनकी सोनू सूद मां प्रोफेसर सरोज सूद अंग्रेजी विभाग की विभागाध्यक्ष थींं।

सोनू ने अजय को अपने निवास पर बुलाया और उनकी पत्नी उषा देवी को ई रिक्शा दियाए क्योंकि अजय का परिवार उनके हादसे के बाद पूरी तरह से टूट चुका था। बा.मुश्किल से अपने परिवार की जिंदगी की जंग लड़ रहे थे। अकेले अजय ही नहीं बल्कि जिंदगी के आखिरी पड़ाव में अपने परिवार की जिंदगी के लिए ई रिक्शा चलाकर तो कभी दूसरे काम कर परिवार की जिंदगी की गाड़ी खींच रहे 60 साल के भाग सिंह जैसे लोग भी हैं जिन्हें ई.रिक्शा मिला है। भाग सिंह कहते हैं ई.रिक्शा मिलने से उनकी कम से कम 2 साल की जिंदगी और बढ़ गई है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!