पंचायत चुनाव में तमंचे सप्लाई करने की थी तैयारी, पुलिस ने जाल बिछाकर पकड़ी तमंचा फैक्ट्री…..

पूर्वांचल पोस्ट न्यूज नेटवर्क

बरेली। पंचायत चुनाव में बड़े स्तर पर तमंचे की सप्लाई करने की तैयारी चल रही थी। इसके लिए भोजीपुरा के एक तस्कर ने बिहार के मुंगेर में तमंचा सप्लायरों से असलहे बनाने की ट्रेनिंग ली थी। दो महीने चली ट्रेनिंग के बाद उसने किला क्षेत्र में तंमचा फैक्ट्री खोल दी। इस दौरान उसने पंचायत चुनाव को लेकर कई प्रत्याशियों से तमंचा की सप्लाई का ठेका ले लिया। किला पुलिस को पता चला तो एक दारोगा खुद प्रधान प्रत्याशी बनकर उससे संपर्क किया। काफी प्रयास के बाद उसने जैसे ही तमंचा के आर्डर का एडवांस लिया। दारोगा ने उसे धर दबोचा। इस दौरान पुलिस ने उसकी निशानदेही पर किला क्षेत्र के रजा कॉलोनी स्थित एक खंडहर में तमंचा फैक्ट्री पकड़ी। इस दौरान पांच बने और कई अधबने तमंचे के साथ ही तमंचा बनाने के उपकरण बरामद किए गए। पुलिस ने आरोपित के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर उसे मंगलवार को जेल भेज दिया।

किला पुलिस को सूचना मिली कि क्षेत्र में एक युवक द्वारा तमंचा बनाने का ठेका लिया जा रहा है। पंचायत चुनाव को लेकर उसने कई प्रत्याशियों से तमंचा डिलेवरी का बयाना भी ले लिया है। भनक लगते ही चौकी इंचार्ज किला सनी चौधरी ने सीओ साद मियां खां और इंस्पेक्टर राजकुमार तिवारी को बताया। जिसके बाद तमंचा फैक्ट्री पकड़ने की कवायद शुरू हुई। इसी दौरान किला चौकी इंचार्ज प्रधान प्रत्याशी बनकर तमंचा सप्लायर से मोबाइल पर संपर्क किया। उसने पहले तो तमंचा बनाने से इन्कार किया लेकिन कई प्रयास के बाद वह दारोगा के जाल में फंस गया। दो हजार में 12 बोर और तीन हजार में 315 बोर के तमंचे की सप्लाई की बात तय हुई। दारोगा ने उसे 10 तमंचे का एडवांस देने के लिए बुलाया। सोमवार देर रात मिनी बाईपास पर एडवांस देने की बात तय हुई। जिसके बाद दारोगा सनी चौधरी, अजय शुक्ला और दारोगा विकास यादव ने मिनी बाईपास पर घेराबंदी की। इसी दौरान तमंचा सप्लायर एडवांस लेने पहुंचा तो जैसे ही उसने दारोगा सनी चौधरी से एडवांस लिया तो दारोगा ने उसे धर दबोचा। जिसके बाद पुलिस उसे पकड़कर थाने लेकर आई। पूछने पर उसने अपना नाम खूबकरन गंगवार निवासी जालिम नंगला थाना भोजीपुरा बताया।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *