शोहदे से परेशान छात्रा ने लगा ली फांसी, पुल‍िस ने समय रहते सुन ली होती तो न जाती जान…

पूर्वांचल पोस्ट न्यूज नेटवर्क

लखनऊ। राजधानी में मिशन शक्ति अभियान जोर शोर से चल रहा है। महिला अपराध पर नियंत्रण के दावे किए जा रहे हैं। लेकिन हकीकत कुछ और ही है। जानकीपुरम में बीकाम की छात्रा ने शोहदे से परेशान होकर आत्महत्या कर ली। खास बात यह है कि छात्रा ने 1090 और डायल 112 पर शिकायत कर मदद की मांग की थी। लेकिन पुलिस ने कोई कार्रवाई नहीं की थी। छात्रा की मौत के बाद पुलिस आरोपित को गिरफ्तार कर पीठ थपथपा रही है।

छात्रा ने शुक्रवार शाम को अपने कमरे में फांसी लगाई थी। छात्रा ने बाथरूम के भीतर नल चालू कर दिया था। जिससे घरवालों को लगा कि वह स्नान कर रही है। काफी देर तक जब नल बंद नहीं हुआ तो छात्रा की मां बाथरूम में गई। बाथरूम के भीतर कोई नहीं था। जिसपर उन्होंने नल बंद कर दिया और बेटी को आवाज लगाई। बेटी ने जब कोई प्रतिक्रिया नहीं दी तो घरवाले कमरे का दरवाजा तोड़कर भीतर दाखिल हुए। कमरे में छात्रा फंदे पर लटकी मिली। फंदे से छात्रा को नीचे उतारकर परिवारजन ट्रामा सेंटर लेकर गए, जहां डॉक्टरों ने उसे मृत घोषित कर दिया। छात्रा की मौत से आक्रोशित घरवालों ने शव को ट्रामा सेंटर परिसर में ही रखकर हंगामा शुरू कर दिया। प्रदर्शन की जानकारी पर पुलिस अधिकारी वहां पहुंचे और घटना की जानकारी ली। इसके बाद आननफानन जानकीपुरम थाने में आरोपित आदर्श उर्फ शुभम मौर्या के खिलाफ आत्महत्या के लिए उकसाने की रिपोर्ट दर्ज की गई।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!