सर्राफ अमित की खुदकुशी का मामला, नामजद सटोरिये का सुराग नहीं लगा पाई पुलिस….

पूर्वांचल पोस्ट न्यूज नेटवर्क

कानपुर। बर्रा के जरौली में सर्राफ अमित सोनी के आत्महत्या के मामले में पुलिस ने डेढ़ माह बाद रिपोर्ट दर्ज कर ली है। लेकिन अब तक पुलिस नामजद आरोपित सटोरिये का सुराग नहीं तलाश पाई है। वहीं पुलिस को मृतक की सीडीआर में मिले पांच संदिग्ध नंबरों से भी कोई सुराग नहीं मिला है।

ये है पूरा मामला बर्रा जरौली निवासी सर्राफ अमित सोनी ने डेढ़ माह पहले फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली थी। पुलिस को छानबीन में एक सुसाइड नोट मिला था। जिसमें अमित ने कुछ लोगों से लेनदेन होने का जिक्र किया था। आत्महत्या के दूसरे दिन कमरे में तलाशी के दौरान स्वजन को एक डायरी मिली। उसमें एक वर्ष 2018 के बर्रा थाना प्रभारी के नाम लिखा गया शिकायती प्रार्थना पत्र मिला था। जिसमें उसने लिखा था कि जरौली के दीपू और उनके साथी जबरन जुआ और सट्टा खिलाने उसे ले गए थे। जहां रुपये न हाेने पर उन लोगों ने उसे कुछ रुपये दिए थे। दिए गए रुपये की एवज में वह लोग उससे 60 हजार रुपयों की मांग कर रहे थे। स्वजन का कहना था कि सटोरिये और उसके साथी की प्रताड़ना से परेशान होकर अमित ने फांसी लगाकर आत्महत्या की है। स्वजन ने वह प्रार्थना पत्र बर्रा पुलिस के सिपुर्द किया था। डेढ़ माह बीतने के बाद पुलिस ने सप्ताह पूर्व दीपू और उसके साथी के खिलाफ आत्महत्या के लिए उकसाने की रिपोर्ट दर्ज की थी। पुलिस ने रिपोर्ट दर्ज कर ली लेकिन अब तक पुलिस सटोरिये दीपू और उसके साथी की तलाश नहीं कर पाई है। इस बारे में थाना प्रभारी बर्रा हरमीति सिंह का कहना है कि मामले की छानबीन जारी है। आरोपित का सुराग लगाया जा रहा है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *