लोगों ने की फूलों की वर्षा, लगे भारत माता के जयकारे, फिर सैन्‍य सम्‍मान के साथ शहीद अभिनव का अंतिम संस्‍कार…..

पूर्वांचल पोस्ट न्यूज नेटवर्क

बागपत। मिग.21 विमान क्रैश में मेरठ के रहने वाले व बागपत के मूल निवासी फाइटर पायलट अभिनव चौधरी की मौत हो गई थी। शनिवार को जब इनका शव मेरठ स्थित घर पर पहुंचा तो अंतिम दर्शन को लोग जमा हो गए। आंखो में आंसू व दिल में दर्द लिए लोगों ने अभिनव को अंतिम विदाई दी। परिजनों का तो रो.रोकर हाल बेहाल था। पत्‍नी व माता.पिता के आंखों से आंसू नहीं दर्द की बूंद निकल रहे थे। परिवार के कई सदस्‍य तो मुर्छित अवस्‍था में जमीन पर गिर पड़े। लोगों ने परिजनों को सहारा दिया। जिसके बाद एयरफोर्स के जवानों के साथ मेरठ से बागपत में पैतृक गांव के लिए परिजनों संग पार्थिव शव को रवाना कर दिया गया।

पैतृक गांव पुसरा में हुआ शहीद अभिनव चौधरी का अंतिम संस्‍कार

पैतृक गांव में शहीद के अंतिम संस्‍कार होने की सूचना से पर प्रशासनिक अधिकारियों समेत क्षेत्र के कई नेता व विधायक मौके पर पहुंचे हुए थे। लोग भी अपने घर की छतों व दरवाजे से शहीद के अंतिम दर्शन को जमा हुए थे। नम आंखें में दर्द लिए लोगों के मन में यह भी कसक था कि वे कभी भी अब अभिनव को नहीं देख पाएंगे। मेरठ से बागपत के गांव में पार्थिव शव पहुंचते ही लोगों की भीड़ शहीद को देखने के लिए जमा हुई। थोड़ी देर बाद शहीद अभिनव चौधरी के शव को श्‍मशान ले जाया गया। वहां नेताओं और प्रशासनिक अधिकारियों ने श्रद्धांजलि अर्पित की। जिसके बाद सैन्‍य सम्‍मान के साथ शहीद अभिनव चौधरी का अंतिम संस्‍कार कर दिया गया।

पुष्‍प की वर्षा से नमन, लगे भारत माता के जयकारे

बड़ौत के पुसार गांव में शहीद का पार्थिव शव पहुंचने से पहले ही दरवाजे व घर की छतों पर अपनी आंखों में दर्द व हाथों में पुष्‍प लिए लोग खड़े थे। पार्थिव शव पहुंचा तो ग्रामीणों ने फूलों की वर्षा कर शहीद को नमन किया। शवयात्रा को नमन कर भारत माता की जय व जब तक सूरज चांद रहेगा अभिनव तेरा नाम रहेगा के लगाए। पार्थिव शरीर जब घर पहुंचा तो अंतिम दर्शन को भीड़ उमड़ पड़ी। जिसके बाद शहीद अभिनव के पार्थिव शरीर को घर से श्मशान घाट लेकर पहुचे। इस दौरान भाकियू के राष्ट्रीय प्रवक्ता राकेश टिकैत व विधायक सहेंद्र रमाला व योगेश धामा भी पहुंचकर श्रद्धांजलि अर्पित की।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!