कोरोना काल में हुई अनोखी शादी, जानिये दहेज में ऐसा क्या दिया गया जिसको देख सभी हो गए हैरान….

पूर्वांचल पोस्ट न्यूज नेटवर्क

बरेली। कोरोना कर्फ्यू के बीच शाहजहांपुर के पटना देवकली स्थित शिव मंदिर पर गुरुवार को अनोखी शादी हुई। जिसमें न बैंड था न कार और बग्घी। घर के कुछ सदस्यों के बीच दूूल्हा दुल्हन ने मंदिर की सात परिक्रमा कर फेरे लिए और महज 17 मिनट में शादी हो गई।इस अनोखी शादी में एक खास बात और यह रही कि दूल्हे ने दहेज के रूप में सिर्फ एक रामायण ली।वह भी ससुराल वालों के बहुत कहने पर।

क्षेत्र के गांव सनाय के रहने वाले पुष्पेंद्र दुबे ग्राम पंचायत बाराकला में एक शिक्षण संस्थान संचालित करते हैं। उनकी शादी हरदोई के पचदेवरिया के केशवपुर गांव निवासी किसान रामबरन तिवारी की बेटी प्रीति से तय हुई थी। पुष्पेंद्र ने बरात में तामझाम करने व दहेज लेने से पहले ही इन्कार कर दिया था।

गुरुवार को तय मुहूर्त पर कुछ रिश्तेदारों के साथ दोनों पक्ष पटना देवकली स्थित शिव मंदिर पहुंचे। जहां विवाह की रस्में पूरी कीं। पुष्पेंद्र व प्रीति ने कहा कि वे लोग चाहते हैं कि अन्य युवा भी इस तरह शादी में अनावश्यक खर्च व दहेज से बचें। उनके इस कदम की सभी लोगों ने सराहना की। विवाह की रस्में शिव मंदिर के महंत अखिलेश गिरी ने संपन्न कराईं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!