इन 30 गांवों में ग्राम पंचायत सदस्यों के लिए नहीं पड़ेंगे एक भी वोट, हैरान करने वाली है वजह…..

पूर्वांचल पोस्ट न्यूज नेटवर्क

बागपत। बेशक पंचायत चुनाव चरम पर हैं लेकिन ग्राम पंचायत सदस्य पदों पर कोई चुनाव लड़ने को तैयार नहीं है। बागपत ब्लाक के गांवों में 191 ग्राम पंचायत सदस्य पदों पर चुनाव लड़ने की किसी ने पहल नहीं की है। इस कारण से इस बात की हैरानी भी है कि पंचायत चुनाव को लेकर हो रही महामारी के बीच खाली सीट होना कैसे संभव है। खैर उत्‍तर प्रदेश के बागपत में ऐसा संभव हो गया है।

इन गांवों में नहीं होगा मतदान

सरूरपुरकलां, टयोढ़ी, नैथला, सुल्तानपुर हटाना, खेडा इस्लामपुर, बिहारीपुर, संतोषपुर, गौरीपुर जवाहरनगर, गाधी, कर्मअलीपुर गढ़ी, चौपड़ा महेशपुर, पुट्ठी ब्राह्मण, नंगला जाफराबाद, अहमदशाहपुर पदड़ा, दौझा, निबाली, बली, गौरीपुर हबीबपुर, चौहल्दा और हमीदाबाद समेत 30 गांवों में ग्राम पंचायत सदस्य पदों के लिए मतदान नहीं होगा।

निर्विरोध चुने गए प्रत्‍याशी

इन गांवों में कुछ ग्राम पंचायत सदस्य निर्वेरिोध चुने गए जबकि बाकी ग्राम पंचायत सदस्य पदों के लिए किसी ने नामांकन नहीं किया है। यह महज बानगी है वरना बाकी पांच ब्लाक के 200 ग्राम पंचायतों में भी ग्राम पंचायत सदस्यों के सैकड़ों पद रिक्त रह गए हैं। साफ है कि ग्रामीणों में ग्राम पंचायत सदस्य पदों के चुनाव को लेकर खास क्रेज नहीं है।

गाजियाबाद का पंचायत चुनाव कराने बागपत से गए 393 होमगार्ड

त्रिस्तरीय पंचायत चुनाव का प्रथम चरण का मतदान कराने के लिए बागपत से 393 होमगार्ड गाजियाबाद गए। गाजियाबाद में 15 अप्रैल को मतदान होगा। चुनाव को निष्पक्ष शांतिपूर्ण संपन्न कराने के लिए डीएम राजकमल यादव ने होमगार्ड ड्यूटी वाहनों को हरी झंडी दिखाकर रवाना किया। सभी होमगार्ड को अवगत कराया गया कि कोविड.19 की गाइड लाइन का पालन करें। मास्क लगाए और दो गज की दूरी बनाकर रखें। प्रत्येक होमगार्ड के पास मास्क व सैनेटाइजर अवश्य हो ताकि दूसरों को सुरक्षित रखने के साथ.साथ खुद स्वास्थ्य रहे। जिला कमांडेंट होमगार्ड नीता भारतीया ने सभी होमगार्ड को निर्देशित किया कि अपने दायित्वों का कर्तव्य निष्ठा, ईमानदारी, लगन व तत्परता के साथ ड्यूटी का निर्वहन करें।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!