मां ने ही गला घोंटकर की थी अपने डेढ़ वर्ष के बेटे की हत्‍या, यह था कारण…..

पूर्वांचल पोस्ट न्यूज नेटकर्व

गोरखपुर। गोरखपुर के बेलीपार थाने के ग्राम भीटी में डेढ़ वर्षीय अनिकेत की हत्या उसकी मां मनोरमा ने ही की थी। वह अपने दिव्यांग बेटे की परवरिश को लेकर तंग थी। बेटे को मारने के लिए मौका ढूंढ रही थी। उसने उसे मारने के लिए कई बार प्रयत्न किया। लेकिन उसे सफलता नहीं मिल सकी। भीटी अपने मायके में अवसर देखकर उसने अपने इकलौते पुत्र को पानी की टंकी में डालकर हत्या कर दिया और उसका आरोप अपनी दोनों बड़ी बहनों व पिता अंधन सिंह पर लगा दिया था। बेलीपार पुलिस उसे हिरासत में लेकर पूछताछ में जुटी हुई है।

पुलिस को पहले से ही था करीबी पर संदेह

अनिकेत की हत्या को लेकर पुलिस को पहले से ही संदेह था कि यह कार्य परिवार के ही सदस्य का किया हुआ है। लेकिन यह स्पष्ट नहीं हो पा रहा था कि हत्या की किसने है। अनिकेत की मां व गगहा थाना क्षेत्र के ग्राम जगदीशपुर भलुआन निवासिनी मनोरमा पुलिस को दिये गए बयान में लगातार अपनी बातें बदल रही थी। पुलिस को उस पर थोड़ा संदेह हुआ तो उसे कड़ाई से पूछताछ की तो वह टूट गई। मनोरमा ने पुलिस को बताया कि वह तो दूसरा बच्चा चाहती ही नहीं थी। इसलिए अनिकेत जब गर्भ में था। तभी उसने गर्भपात के लिए दवाएं खा लिया था। इन दवाओं से अनिकेत की मौत तो नहीं हुई। लेकिन जन्म के बाद उसमें तमाम प्रकार की विकृतियां आ गईं। उसे सुनाई कम पड़ता था। वह मानसिक रूप से भी कमजोर था। दौड़कर अक्सर सड़क पर चला जाता था।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!