सेना भर्ती अभ्यर्थियों के मोबाइल से एजेंटों तक पहुंचने की कोशिश…

पूर्वांचल पोस्ट न्यूज नेटवर्क

आगरा। सेना भर्ती में फर्जी दस्तावेजों से सेंध लगाने वाले अभ्यर्थियों के मोबाइल से पुलिस उनके एजेंट तक पहुंचने का प्रयास कर रही है। पुलिस जेल भेजे गए दस अभ्यर्थियों के मोबाइल की काल डिटेल व उनकी वाट्सएप चैट की जांच कर रही है।

सिकंदरा हाईवे स्थित आनंद इंजीनियरिंग कालेज परिसर में सेना की भर्ती चल रही है। मंगलवार को पुलिस ने कासगंज के फर्जी निवास प्रमाण पत्र और कोविड जांच रिपोर्ट से भर्ती होने की कोशिश करते दस अभ्यर्थियों को गिरफ्तार किया था। वहीं फर्जी कोविड जांच रिपोर्ट बनाकर देने वाले पांच आरोपितों को भी भर्ती स्थल के पास से पकड़ा था। पुलिस की पूछताछ में आरोपित अभ्यर्थियों ने बताया था कि जालसाजों ने सेना में फर्जी दस्तावेजों से भर्ती कराने ठेका डेढ़ वर्ष पहले लिया था। एजेंट ने दो से तीन लाख रुपये में प्रत्येक अभ्यर्थी से सौदा तय किया था। उन्होंने कुछ एजेंट के नाम पुलिस काे बताए हैं।

पुलिस अब आरोपितों के मोबाइल की मदद से जालसाज एजेंट और उनके सरगना तक पहुंचने का प्रयास कर रही है।इंस्पेक्टर सिकंददा अरविंद कुमार ने बताया गिरफ्तार अभ्यर्थियों के मोबाइल की काल डिटेल व वाट्सएप चैट की जांच कर रही है।इससे कि एजेंटों के नाम.पते की जानकारी हासिल की जा सके। उन्हें गिरफ्तार करके सरगना तक पहुंचा जा सके।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!