यूपी पंचायत चुनाव आरक्षण लिस्ट के बाद जानिए कहां तक पहुंची तैयारी, लगाए गए कितने कर्मचारी…..

पूर्वांचल पोस्ट न्यूज नेटवर्क

राजधानी लखनऊ में त्रिस्तरीय पंचायत चुनाव आरक्षण लिस्ट के बाद तैयारियां तेज हो गईं हैं। लखनऊ में चुनाव के लिए 52 लाख मतपत्र लगेंगे। चुनाव कराने के लिए करीब 12 हजार कर्मचारियों को लगाया जाएगा। एक बूथ पर पांच मतदान कर्मी रहेंगे। जोकि जिला पंचायत सदस्य, क्षेत्र पंचायत सदस्य, ग्राम पंचायत सदस्य और प्रधान पद के लिए मतदान एक साथ कराएंगे। 2015 में भी इन चारों पदों के लिए चुनाव एक साथ हुए थे। इस बार भी चारों पदों के लिए एक साथ चुनाव कराया जाना प्रस्तावित है।

24.5 हजार कर्मियों का डाटा फीड

पंचायत चुनाव को देखते हुए वोटर लिस्ट के बाद प्रशासन ने चुनाव कराने के लिए कर्मचारियों की तैनाती को लेकर तैयारी लगभग पूरी कर ली है। इसे देखते हुए प्रशासन ने अब तक राजधानी के विभिन्न विभागों व कार्यालयों के करीब 24.5 हजार कर्मचारियों की डाटा फीडिंग का काम पूरा कर लिया है। इन्हीं में ही 12 हजार के आस पास कर्मचारियों को चुनावी ड्यूटी में लगाया जाएगा।

52 लाख मतपत्र भी आए

राजधानी में पंचायत चुनाव के लिए 52 लाख मतपत्र आ चुके हैं। मतपत्रों को तीन स्तरों की सुरक्षा में स्ट्रांग रूम में रखा गया है। हालांकि 494 ग्राम पंचायतों में 10.57 लाख मतदाताओं को देखते हुए 42 लाख के आसपास मतपत्रों की ही जरूरत पड़ेगी।

494 ग्राम पंचायतों में 1748 बूथ

राजधानी के आठ ब्लाकों की 494 ग्राम पंचायतों में मतदान के लिए करीब 1748 बूथ बनाए जाएंगे। अधिकारी बताते हैं कि एक बूथ पर कम से कम पांच कर्मचारियों की आवश्यकता पड़ेगी। जिसमें एक पीठासीन अधिकारी और चार मतदान अधिकारी होंगे। इस लिहाज से नौ हजार कर्मचारी लगेंगे। जबकि 30 फीसदी अतिरिक्त कर्मचारी रिजर्व में रखे जाएंगे। दोनों को मिलाकर 11.5 से 12 हजार कर्मियों की जरूरत पड़ेगी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!