किसान आंदोलन पर विदेशी हस्तियों के ट्वीट पर सरकार की टो टूक, बताया गैरजिम्मेदार और गलत…..

पूर्वांचल पोस्ट न्यूज नेटवर्क

नई दिल्ली। केंद्र सरकार के नए कृषि कानूनों के खिलाफ दिल्ली में पिछले 70 दिनों से किसान आंदोलन पर बैठे हुए हैं। कई विपक्षी पार्टी और उनके नेता किसान आंदोलन के समर्थन में आवाज उठा चुके हैं। इस बीच अब किसानों के समर्थन में पॉप स्टार रिहाना और ग्रेटा थनबर्ग समेत कई इंटरनेशनल सेलिब्रिटीज भी आ गए हैं। इन इंटरनेशनल सेलिब्रिटीज ने किसान आंदोलन के समर्थन में ट्वीट किए हैं। रिहाना ने अपने ट्विटर पर किसान आंदोलन से जुड़ी खबर शेयर करते हुए लिखा कि हम इस बारे में बात क्यों नहीं कर रहेघ् वहींए पर्यावरण एक्टिविस्ट ग्रेटा थनबर्ग ने कहा है कि हम भारत में किसानों के प्रदर्शन में एकजुटता से खड़े हैं।

सरकार की ओर से आया जवाब

इनके ट्वीट पर अब सरकार की ओर से जवाब सामने आया है। किसानों के विरोध पर विदेशी हस्तिय़ों और संस्थाओं द्वारा हाल की टिप्पणियों पर विदेश मंत्रालय की ओर से कहा गया है कि ये सनसनीखेज सोशल मीडिया हैशटैग और कमेंट्स को लेकर प्रलोभन है। इस तरह की टिप्पणियां न तो सटीक और न ही जिम्मेदार हैं खासकर जब मशहूर हस्तियों और अन्य लोगों द्वारा इसको लेकर बयान सामने आए। यानि सरकार की ओर से कहा गया है कि ऐसी टिप्पणियां करने से पहले सच्चाई जान ली जानी चाहिए।

विदेश मंत्रालय ने आगे कैलिफोर्निया में महात्मा गांधी का मूर्ति गिराए जाने के मामले भी अपनी टिप्पणी की। विदेश मंत्रालय की ओर से कहा गया है कि इन निहित स्वार्थ समूहों में से कुछ ने भारत के खिलाफ अंतरराष्ट्रीय समर्थन जुटाने की कोशिश की है। ऐसे अराजक तत्वों से प्रेरित होकर महात्मा गांधी की मूर्तियों को दुनिया के कुछ हिस्सों में तोड़ा जाता है। यह भारत के लिए और हर जगह सभ्य समाज के लिए बेहद परेशान करने वाला है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *