यहां दिन ढलते ही मनोरोगी की दहशत से घर से निकलने से घबराते है लोग, पुलिस भी लाचार…..

पूर्वांचल पोस्ट न्यूज नेटवर्क

प्रयागराज। कौशांबी जनपद के पिपरी कोतवाली के कसेंदा गांव में इधर कुछ दिनों से एक मनोरोगी शखस की हरकतों से लोग परेशान हैं। आलम यह है कि सड़क पर उसे देखकर दूर से ही गुजरते है क्योंकि वह अचानक ईट या डंडे से हमला कर देता है। लोगो से छीनाझपटी भी करता है। उसके हमले में कई लोग जख्मी हो चुके हैं आतंक फैला हुआ है। ग्रामीणों के अनुसार रविवार रात भी उस व्यक्ति न एक महिला समेत दो व्यक्तियों पर घातक हमला कर दिया था। चीख पुकार सुनकर जुटे ग्रामीणों के बीच बचाव करने पर उनकी जान बच सकी। इस बारे में पुलिस को भी बताया गया है लेकिन पुलिस का कहना है कि मनोरोगी को थाने लाकर क्या किया जा सकता है। उसे स्वास्थ्य विभाग की टीम को ले जाकर इलाज कराना चाहिए या मेंटल हॉस्पिटल में भर्ती कराया जाए।

हमला करता है और छीनाझपटी भी

बताया गया कि यह शख्स पिपरी इलाके में ही रेही गांव का एक रहने वाला है। उसकी मानसिक हालत बेहद खराब हो चुकी है। वह कसेंदा गांव में अपने एक रिश्तेदार के घर पर रहता है। लोगों का कहना है कि आमतौर पर वह दिन ढलने के बाद ही ऊलजलूल हरकतें और हमले करता है। वह सड़क पर भागता है और कोई भी सामने मिल गया तो उस पर हमलावर हो जाता है। फिर चाहे वह महिला हो या कोई बच्चा या बुजुर्ग। वह डंडे से वार कर देता है या फिर पत्थर और ईंट से प्रहार करता है। उसके हमले में कई लोग जख्मी हो चुके हैं। किसी का सिर फटा तो किसी के हाथ या पेट पर चोट पहुंची। हमले के अलावा वह लोगों से छीनाझपटी भी करने लगा है। अगर कोई दुकान से कोई सामान लेकर जा रहा है तो उससे छीनने का प्रयास करता है। बैग और थैला भी छीनकर भागता है। लोगों का कहना है कि मानसिक रोगी युवक किसी दिन कोई अनहोनी कर सकता है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *