यूपी में कांच उद्योग को प्रोत्साहन, आज से शराब की बोतल के दाम में दस से इतने रुपए की बढ़ोतरी…..

पूर्वांचल पोस्ट न्यूज नेटवर्क

लखनऊ। उत्तर प्रदेश में शराब के शौकीनों को दोहरा झटका लग रहा है। कोरोना संक्रमण के दौरान उत्तर प्रदेश में कोरोना कर्फ्यू के पालन के दौरान बीते लगातार एक हफ्ते से दुकानें बंद का कारण शराब से वंचित लोगों को अब शराब मंहगी भी मिलेगी। आबकारी विभाग ने कोरोना सेस लागू करने के साथ ही आबकारी नीति में संशोधन के तहत कांच कारण कांच उद्योग को प्रोत्साहन देने का फैसला लिया है। जिसके कारण आज से शराब की बोतल के दाम में दस से 40 रुपए की बढ़ोतरी होगी।

उत्तर प्रदेश में मंगलवार शाम से जाम टकराना और महंगा हो गया है। प्रदेश के आबकारी विभाग ने कोरोना सेस लागू कर दिया है। इसके साथ ही आबकारी नीति में संशोधन किया है। जिसके कारण शराब की बोतल दस से 40 रुपए महंगी हो गई है। प्रदेश में कोरोना सेस लगने के साथ ही अब शराब को कांच की बोतलों में ही पैक कराकर बेचने का निर्देश है। इस प्रस्ताव को कैबिनेट की बैठक में भी हरी झंडी मिली थी। देशी के साथ ही अब विदेशी शराब की कांच की बोतलों में ही बेची जाएगी। जिससे प्रदेश के कांच उद्योग को प्रोत्साहन मिलेगा। देशी के साथ ही विदेशी शराब को कांच की 90 एमएम की बोतलों में पैक किया जाएगा। जिसके कारण इनके दाम में दस से 40 रुपए प्रति बोतल इजाफा हो गया है।

योगी आदित्यनाथ सरकार ने प्रदेश का राजस्व बढ़ाने के लिए यह निर्णय लिया है। इसके तहत अब शराब खरीदे वाले को प्रति बोतल दस से 40 रुपया अधिक देना होगा। देशी शराब की बोतल पर दस रुपया बढ़ाया गया है। जबकि विदेशी शराब की बोतल पर 40 रुपए की वृद्धि की गई है। इसका आदेश अपर मुख्य सचिव आबकारी संजय आर भूसरेड्डी ने जारी किया है।

प्रदेश में अब देशी के साथ ही विदेशी शराब की आपूर्ति ट्रैटा पैक के स्थान पर कांच की बोतल में की जाएगी। जिससे इसके दाम में दस रुपया बढ़ाया गया है। प्रीमियम ब्रांड की 90 एमएल बोतल के दाम में दस रुपया और सुपर प्रीमियम ब्रांड की बोतल में 20 रुपया बढ़ाया गया है। स्कॉच की बोतल के दाम में 30 रुपया और इंपोर्टेड शराब के दाम में 90 एमएल की बोतल में दाम 40 रुपया बढ़ाया गया है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *