चकियाः सेक्टर नंबर 3 से जिला पंचायत महिला भावी प्रत्याशी द्वारा कोरोना गाइडलाइन की उडाई जा रही है धज्जियां, कोरोना का नहीं सता रहा डर, पैर छूकर आर्शीवाद लेने का चला रहा…..खुद के चेहरे पर नहीं लगातीं है मास्क……

र्वांचल पोस्ट न्यूज नेटवर्क

रिपोर्ट-इंचार्ज राम आशीष भारती

प्रत्याशी खुद के चेहरे पर मास्क लगाना नहीं समझ रहे मुनासिब

शासन के गाइडलाइन का धज्जियां उड़ाने में लगे हैं भावी प्रत्याशी

चकिया, चंदौली। त्रिस्तरीय पंचायत चुनाव का प्रचार इस समय जोरों पर है। राजनैतिक पार्टियों के प्रत्याशी दर्जनों और सैकड़ों की भीड़ जुटाकर उन्हें अपने पक्ष में वोट देने की अपील में जुटे है। लेकिन इस बात की फिक्र किसी को नहीं है कि कोरोना संक्रमण ने एक बार फिर तेजी से दस्तक दे दी है और हर दिन मामले बढ़ रहे हैं। यदि विकास खंड की बात की जाए तो यहां पर कोरोना गाइडलाइन का रत्ती भर भी पालन नहीं कि या जा रहा है। पुलिस और प्रशासन चुनाव सकुशल संपन्न कराने में जुटा है और प्रत्याशियों को देखकर ऐसा लगता है जैसे उन्होंने कोरोना से कह दिया हो कि वह 26 अप्रैल के बाद ही विकास खंड में आए। क्योंकि 26 अप्रैल को मतदान हो जाएगा। लेकिन कोरोना इन प्रत्याशियों की बात भी नहीं सुन रहा है। ऐसे में आने वाले दिन क्षेत्र वासियों के लिए संकट भरे हो सकते हैं।
बीते साल जब क्षेत्र में एक भी कोरोना पॉजिटिव केस नहीं आया था तब लॉकडाउन कर दिया गया था। जब जिले में पहला केस आया था तो पूरे जिले में हाहाकार मच गया था और लोग दहशत में थे। लेकिन वर्तमान में हर दिन 8 से 10 केस रोज आ रहे है। इसके बाद भी प्रशासन की ओर से कोई भी सख्ती नहीं बरती जा रही है। जिसका प्रमुख कारण है त्रिस्तरीय पंचायत चुनाव। इस समय प्रत्याशियों व नेताओं का जमावड़ा लगा हुआ है। इसके अलावा प्रत्याशी भी चुनाव प्रचार के लिए जनसंपर्क में जुटे हैं और उसके साथ सैकड़ों लोग शामिल रहते हैं। जबकि कोरोना गाइडलाइन के अनुसार एक प्रत्याशी के चुनाव प्रचार में केवल चार लोग ही शामिल हो सकते हैं। प्रशासन की मजबूरी ये है कि वह किसी से ये नहीं कह पा रहा है कि वह नियमों का पालन करे। ऐसे में जनता के बीच पहुंच रहे प्रत्याशी और समर्थकों की भीड़ में यदि एक भी व्यक्ति कोरोना पॉजिटिव होता है तो वह कई लोगों को संक्रमण का शिकार बना सकता है।

भीड़ की चिंता नहीं, न ही चेहरे पर मास्क
हम बात कर रहे हैं स्थानीय विकास खंड अंतर्गत सेक्टर नंबर 3 से एक महिला जिला पंचायत प्रत्याशी की। जो कि चुनाव प्रचार प्रसार के दौरान कोरोना गाइडलाइन को ताक पर रखकर प्रचार किया जा रहा है। मुंह पर मास्क तो दूर दो गज की दूरी का भी पालन नहीं किया जा रहा है। वोट मांगने के दौरान प्रत्याशी शासन के सभी निर्देशों को भूल जा रहें हैं। इनको कोरोना का कोई भी डर नहीं सता रहा है। इनको केवल किसी भी तरह वोट से मतलब है। प्रचार के दौरान यह साफ दिख रहा है कि प्रत्याशी के मुंह पर खुद मास्क नहीं लगा हुआ है। और दर्जनों से अधिक लोगों की भीड़ भी इक्कठा है। किसी के चेहरे पर मास्क नहीं है और न ही दो गज की दूरी। जिससे साफ होता है कि चुनाव प्रचार के दौरान प्रत्याशी शासन के निर्देशों का धज्जियां उडा रहे हैं। यही नहीं प्रत्याशी द्वारा बेधड़क होकर पैर छूने का कार्य किया जा रहा है। जिससे यह साफ होता है कि दो गज की दूरी व गाइडलाइन की धज्जियां उडाने में लगी हुई हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!