महिला की मौत के बाद लोगों ने सड़क पर अर्थी रखकर लगा दिया जाम, जानिए क्या था मामला…..

पूर्वांचल पोस्ट न्यूज नेटवर्क

प्रयागराज। नैनी के महेवा गांव मेंं ससुर द्वारा कुल्हाड़ी से घातक हमले में घायल महिला ने मंगलवार सुबह अस्पताल में दम तोड़ दिया। पोस्टमार्टम के बाद परिवार और गांव के लोग शव लेकर नैनी में महेवा गेट के पास पहुंचे तो वहां सड़क पर महिला की अर्थी रखकर जाम लगा दिया। उनमें इस बात की नाराजगी थी कि पुलिस ने आरोपित ससुर को गिरफ्तार कर जेल भेजा मगर बाकी दो नामजद अभियुक्तों को नहीं पकड़ा गया है। वे कई अन्य मांग कर रहे थे। पुलिस.प्रशासनिक अधिकारी वहां आकर लोगों को मनाने की कोशिश करने लगे।

ग्रामीणों की मांग बच्चों के नाम की जाए विवादित जमीन

घटनाक्रम कुछ यूं है। नैनी के महेवा गांव में 15 फरवरी को शंभूनाथ भारतीय ने अपनी बहू सुमन भारतीय की गर्दन पर घरेलू कलह के चलते कुल्हाड़ी से वार कर दिया था। तब से उसका एसआरएन अस्पताल में इलाज चल रहा था। सुमन की हालत में सुधार नहीं हुआ और मंगलवार की सुबह उसने दम तोड़ दिया। उसकी मौत की खबर मिलती को परिवार और गांव के लोग दुखी हो गए। साथ ही उनके भीतर गुस्सा था कि पुलिस ने ससुर को तो गिरफ्तार कर जेल भेज दिया लेकिन बाकी दो नामजद आरोपितों की गिरफ्तारी में हीलाहवाली की जा रही है। इस वजह से ग्रामीणों में आक्रोश था। सुमन के पति राजेश भारतीय ने अपने पिता शंभू भारतीय समेत तीन लोगों के खिलाफ मुकदमा दर्ज कराया था। मंगलवार दोपहर पोस्टमार्टम के बाद सुमन का शव लेकर घर लौटते समय परिवार और गांव के लोग महेवा गेट के सामने रुक गए। वहां अर्थी को सड़क पर लोग पुलिस प्रशासन के खिलाफ नारे लगाने लगे। बड़ी संख्या में ग्रामीणों के साथ महिलाएं भी आकर शव के पास रोने चीखने लगीं। लोग मौके पर एसडीएम को बुलाने की मांग कर रहे। साथ ही यह भी मांग की जा रही थी कि जिस जमीन के विवाद में कत्ल हुआ है उसे सुमन के बच्चों के नाम किया जाए। पुलिस अधिकारी पहुंचकर लोगों को मनाने का प्रयास करने लगे लेकिन वे अपनी मांग पर अड़े रहे। देर शाम तक लोगों को मनाने का प्रयास किया जा रहा था।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!