भंडारे का प्रसाद खाने से श्रद्धालुओं की बिगड़ी तबियत, 32 लोग बीमार

कन्नौज में फूड प्वाइजनिंग का मामला सामने आया है। कथा समापन के बाद हुए भंडारे का प्रसाद खाने के दौरान श्रद्धालुओं की तबियत बिगड़ गई। उन्हें जिला अस्पताल में भर्ती कराया गया है। श्रद्धालुओं के बीमार पड़ने की जानकारी पर डीएम-एसपी ने जिला अस्पताल पहुंचकर सभी का हाल जाना। फूड प्वाइजनिंग से करीब 32 लोग बीमार बताए जा रहे हैं।

बताया जा रहा है कि सदर कोतवाली के जुकईया गांव में गांव के लोगों की ओर से ही श्रीमद्भागवत कथा का आयोजन हो रहा था। शनिवार की शाम कथा का समापन हुआ। उसके बाद भंडारे का आयोजन किया गया। इसमें बड़ी संख्या में गांव और आसपास के श्रद्धालुओं ने शिरकत की। भंडारे में खीर-पूरी का प्रसाद बंटा। प्रसाद खाने के बाद सभी लोग बारी-बारी से घर चले गए। उसके बाद कुछ लोगों ने तबियत बिगड़ने की शिकायत की। देखते ही देखते कई घरों से लोगों के बीमार होने की जानकारी आने लगी। इसमें बच्चों से लेकर महिलाएं और बुजुर्ग भी शामिल हैं।

इस पर एंबुलेंस की मदद से सभी को बारी-बारी से जिला अस्पताल पहुंचाया गया। देर रात तक करीब 32 की तबियत बिगड़ चुकी थी। सभी को पेट दर्द, उल्टी और नींद आने की शिकायत थी। सीएमएस डॉ. शक्ति बासू के मुताबिक इन सभी को फूड प्वाइजिनंग की शिकायत है। उन्होंने आशंका जताई कि खाने की चीज में कोई कीड़ा या नशीला पदार्थ गिर गया होगा, उसी से सभी की तबियत खराब हुई। उन्होंने सभी को खतरे से बाहर बताया। जानकारी मिलने पर डीएम राकेश मिश्र और एसपी प्रशांत वर्मा भी मौके पर पहुंचे और जरूरी जानकारी ली। डीएम ने सभी का बेहतर इलाज करने का निर्देश दिया है।

इन्हें कराया गया भर्ती
भंडारे में बीमार हुए लोगों में महेंद्र, रमन, गंगा श्री, विमलेश, रामबहादुर, विवेक, उमेश, साहिल, शुभ, खुशबू, अखिलेश, धर्मेंद्र, नीतीश और अलका आदि शामिल हैं। इन्हें जिला अस्पताल में भर्ती कराया गया है।

गांव में डटे एसडीएम-सीओ
32 लोगों के बीमार होने के मामले को जिला प्रशासन ने गंभीरता से लिया है। गांव का जायजा लेने के लिए सदर एसडीएम गौरव शुक्ला और सीओ सदर शिव प्रताप सिंह को वहां तैनात कर दिया गया है। भंडारे में जो भी परिवार गया था, उन सभी की जानकारी ली जा रही है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *