भारत के खिलाफ गंदा बोलने वाले बिकाऊ लोग, चंद पैसों के लिए बेचते हैं अपनी आत्माः सीएम……

पूर्वांचल पोस्ट न्यूज नेटवर्क

लखनऊ। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने शनिवार को लखनऊ में रामायण विश्व महाकोश के प्रथम संस्करण कर्टेन रेजर वॉल्यूम का विमोचन एवं कार्यशाला का उद्घाटन किया। उत्तर प्रदेश संगीत नाटक अकादमी के प्रेक्षागृह में इस अवसर पर उन्होंने रामायण तथा महाभारत की महत्ता पर भी प्रकाश डाला।

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि हम सब इस बारे में जानते हैं कि भारत आज जिस रूप में है। उसकी सीमाएं उत्तर से दक्षिण तक अगर आज भी उस रूप में बनी हैं तो उसका श्रेय भगवान राम को जाता है। सांस्कृतिक रूप से उत्तर और दक्षिण के बीच खाई को पाटने का काम भगवान राम ने किया। भारत गणराज्य सांस्कृतिक भारत की ठोस आधारशिला पर खड़ा है। उन्होंने कहा कि मलेशिया में लोग कहते हैं हो सकता है हमने किन्हीं परिस्थितियों में इस्लाम कबूल किया पर हमारे पूर्वज तो राम ही हैं। आप पश्चिम में आइए, जो तक्षशिला है। वो भरत के पुत्र के नाम पर है। हमने इसे विस्मृत कर दिया।

सीएम योगी आदित्यनाथ ने कहा कि रामायण और महाभारत की कहानियां हमें बहुत कुछ बताती हैं। रामायण और महाभारत की कहानियां हमें बहुत कुछ सिखाती हैं। यह सिर्फ हमारी मानसिकता का अभाव है कि बहुत सारे लोगों अयोध्या में ही भगवान श्रीराम के अस्तित्व पर प्रश्न लगाने का काम किया। यह जो विकृत मानसिकता है, यही भारत को अपने गौरव से दूर करती यही है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *