चंदौलीः मकर संक्रांति यानी खिचड़ी का त्यौहार परम्परागत तरीके से धूमधाम व हर्षोल्लासपूर्ण…..

पूर्वांचल पोस्ट न्यूज नेटवर्क

चंदौली। जनपद में मकर संक्रांति यानी खिचड़ी का त्यौहार गुरुवार को परम्परागत तरीके से धूमधाम व हर्षोल्लासपूर्ण वातावरण में मनाया गया। इस दौरान हिन्दू धर्म में आस्था रखने वाले लोगों ने सुबह स्नान.ध्यान कर गुड़ व तिल का दान पुण्य के भागी बने और परम्परा का निर्वहन करते हुए खिचड़ी व अन्य लजीज व्यंजकों का लुत्फ उठाया। उधर दूसरी ओर खिचड़ी पर्व पर पूरे दिन पतंगबाजी का दौर चला। युवाए बच्चे व बड़े सभी लोगों ने पतंगबाजी पर हाथ आजमाए। स्थिति यह थी कि ठंड होने के बावजूद पूरे दिन खेल मैदान व छतों के ऊपर बच्चों व युवाओं का जमावड़ा लग गया और दिन भर भाक्कटा की आवाज चहुंओर गूंजती रही।
मकर संक्रांति का पर्व हिन्दू धर्मावलम्बियों ने पूरे विधि.विधान के साथ त्यौहार को मनाया। सुबह स्नान.ध्यान के बाद गरीबों में तिल व गुड़ दान कियाए वहीं तरह.तरह के पकवानों संग खिचड़ी बनाकर उसका सेवन किया। उधरए जनपद के बलुआ स्थित पश्चिमी वाहिनी गंगा तट पर स्नान करने वालों की भारी भीड़ घाटों पर दिखी। इसके अतिरिक्त मठ व गुरूधामों के बाहर दर्शन.पूजन को भक्तों का तांता लगा रहा। स्थिति यह थी कि दूरदराज के लोग स्नान के लिए एक दिन पहले ही बलुआ स्थित गंगा घाट पर पहुंच गए। गुरुवार को भी बलुआ गंगा घाट पर स्नान लोगों को भारी भीड़ दिखी। वहीं सुरक्षा के मद्देनजर वहां काफी संख्या में पुलिस बल तैनात किया गया था। खिचड़ी पर्व पर पूरे दिन जिले में पतंगबाजी का दौर चला। छोटे.बड़े सभी छतों पर चढ़कर पतंगबाजी में मशगूल दिखे। इस दौरान पेंच लड़ाने और दूसरों की पतंग काटने की होड़ मची रही। चाइनीज मांझा प्रतिबंधित होने के कारण इस बार लोगों ने देशी मांझे से पतंगबाजी का लुत्फ उठाया। नगर सहित ग्रामीण अंचलों में त्यौहारी माहौल नजर आया और लोगों ने परिवार समेत मकर संक्रांति की खुशियां बांटी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *