प्रेमिका ने तेजाब से झुलसा दिए तीन परिवारों के अरमान, पांच बहनों का इकलौता भाई था यह….

पूर्वांचल पोस्ट न्यूज नेटवर्क

आगरा। आगरा में प्रेमिका के तेजाबी हमले ने एक साथ तीन परिवारों के अरमान को झुलसा दिया। पांच बहनों से इकलौता भाई और एक मां से उसके घर का चिराग छीन लिया। वहीं जिस युवती से देवेंद्र का रिश्ता तय हो गया था। एक महीने बाद दोनों को सात फेरे लेने थे। मंगेतर के अरमानों को तेजाब से हमेशा के लिए झुलसा दिया। वहीं आरोपित प्रेमिका का भी जेल जाना तय है। ऐसे में उसकी जिंदगी भी अब पहले जैसी आसान नहीं रहेगी।

प्रेमिका ने युवक की शादी दूसरी जगह तय होने से नाराज होकर लैब असिस्टेंट को साजिश के तहत अपने घर बुलाया था। आरोप है कि गुरुवार सुबह विवाद होने पर प्रेमिका सोनम ने उसे पंखा सही करने के कमरे पर बुलया था। वहां पर देवेंद्र पर उसे तेजाब से जला दिया। देवेंद्र की एक महीने बाद ही बरात जानी थी। मां और बहनें इकलौते बेटे के सिर पर सेहरा बांधने की तैयारी में जुटी थीं। कासगंज के थाना सहावर के गांव बहापुर निवासी देवेंद्र राजपूत आगरा में करीब बारह साल से खंदारी इलाके में किराए पर रहते थे। यहां वह एक पैथोलाजी में लैब असिस्टेंट थे।देवेंद्र के स्वजन ने बताया कि वह इकलौता बेटा था। पांच बहनों में सबसे छोटा था। पिता खेती करते हैं।स्वजन ने उसका रिश्ता कासगंज की युवती से तय कर दिया था। उसकी 28 अप्रैल को बरात जानी थी। पांचों बहनें इकलौते भाई की शादी तैयारी के लिए खरीददारी में जुटी थीं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *